close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहारः लंबे समय के बाद एक मंच पर दिखे तेजस्वी और तेजप्रताप, लेकिन नहीं दिखा...

तेजस्वी यादव के साथ काफी समय से तेजप्रताप यादव ने मंच साझा नहीं किया था. लेकिन कर्पूरी ठाकुर जयंती के मौके पर एक साथ दिखे.

बिहारः लंबे समय के बाद एक मंच पर दिखे तेजस्वी और तेजप्रताप, लेकिन नहीं दिखा...
तेजप्रताप यादव और तेजस्वी यादव एक मंच पर दिखे.

पटनाः बिहार में आरजेडी पार्टी के द्वारा कर्पूरी ठाकुर जंयती पर कार्यक्रम आयोजन किया गया था. आयोजन में आरजेडी के दिग्गज नेता मंच पर मौजूद थे. हालांकि सबसे बड़ी बात यह थी कि इस मंच पर तेजस्वी यादव के साथ आज तेजप्रताप यादव भी दिखे. इससे पहले तेजस्वी यादव के साथ काफी समय से तेजप्रताप यादव ने मंच साझा नहीं किया था. लेकिन कर्पूरी ठाकुर जयंती कार्यक्रम में यह देखने को मिली. जहां तेजप्रताप के पहुंचने पर तेजस्वी यादव ने पैर छु कर प्रणाम किया. हालांकि कुछ ऐसी भी चीजें दिखी जिससे कहा जा सकता है कि तेजप्रताप का कद तेजस्वी यादव से अभी नीचे है.

तेजस्वी यादव और तेजप्रताप यादव काफी समय बाद गुरुवार को एक मंच पर दिखे. मौका था कर्पूरी ठाकुर जयंती का जहां आरजेडी के दिग्गज नेता पहुंचे थे. लेकिन मंच पर लगे पोस्टर ने कई सवाल खड़े कर दिए हैं. दरअसल, कार्यक्रम में मंच पर जो पोस्टर लगे थे उसमें लालू यादव और राबड़ी देवी के साथ केवल तेजस्वी यादव की तस्वीर लगी थी. इस पोस्टर में न ही तेजप्रताप और न ही मीसा की फोटो लगी थी.

Tej Pratap yadav and Tejashwi yadav together in karpuri thakur jyanti program

वहीं, तेजप्रताप यादव के लिए कुर्सी भी लगाई गई थी तो वह तेजस्वी यादव से दूर लगाई गई थी. जबकि तेजस्वी यादव के बगल में रघुवंश प्रसाद सिंह और रामचंद्र पूर्वे को जगह दी गई थी. हालांकि मंच पर आने के बाद तेजस्वी यादव ने इसे संभाल लिया और तेजप्रताप के पैर छू कर सम्मान दिया और उन्हें अपने बगल में बिठाया.

वहीं, कार्यक्रम में तेजप्रताप ने एक बार फिर विरोधियों पर निशाना साधते हुए दिखे. उन्होंने कहा कि बहुत लोग भाई-भाई को अलग करना चाहते हैं. यहां उन्होंने खुद को एक बार फिर कृष्ण बताया और तेजस्वी को अर्जुन कहकर संबोधित किया. उन्होंने कहा कि कृष्ण को हमेशा याद रखना. क्योंकि कृष्ण के बिना जीत नहीं हो सकती.

कार्यक्रम के दौरान तेजस्वी यादव ने भी विरोधियों पर खूब निशाना साधा. वहीं, सवर्ण आरक्षण पर आरजेडी की ओर से डैमेज कंट्रोल करते हुए भी दिखे. साथ ही बिहार में आरजेडी नेता की हत्या पर भी नीतीश कुमार पर लॉ एंड ऑडर्र के लिए निशाना साधा.