close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार विधानसभा के मानसून सत्र का अंतिम दिन, आज भी सदन नहीं पहुंचे तेजस्वी यादव

बिहार विधानमंडल के मानसून सत्र का आज आखरी दिन है. अभी तक यह सत्र मुख्य विपक्षी दल राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के लिए निराशाजनक रहा है.

बिहार विधानसभा के मानसून सत्र का अंतिम दिन, आज भी सदन नहीं पहुंचे तेजस्वी यादव
अंतिम दिन भी सदन नहीं पहुंचे तेजस्वी यादव. (फाइल फोटो)

पटना : बिहार विधानसभा के मानसून सत्र के आज अंतिम दिन भी नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के सदन में अनुपस्थिति को लेकर सत्ता पक्ष के नेता हमलावर रहे. जनता दल युनाइटेड (जेडीयू) विधायक सुधांशु शेखर का कहना है कि विधानसभा के चुनाव में तेजस्वी यादव की जमानत नहीं बचेगी. साथ ही कहा कि आरजेडी के विधायक नीतीश कुमार के सामने बौने हैं.

बिहार विधानमंडल के मानसून सत्र का आज आखरी दिन है. अभी तक यह सत्र मुख्य विपक्षी दल राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के लिए निराशाजनक रहा है. लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद आरजेडी के लिए अपनी दमदार उपस्थिति दर्ज कराने के लिए यह बड़ा मौका था, लेकिन इसका फायदा नहीं उठा सकी. 

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव की गैरहाजिरी ने आरजेडी को बैकफुट पर ला दिया. वहीं, जेडीयू विधायक सुधांशु शेखर ने कहा है कि तेजस्वी यादव जनता की समस्याओं के निदान के लिए आए हैं, लेकिन अपने पिता से जो विरासत में मिली है उसे भी वह बचा नहीं पा रहे हैं. जनता की सेवा भी नहीं कर पा रहे हैं.

जेडीयू विधायक का कहना है कि आज तेजस्वी यादव का जो हाल है, लोकसभा चुनाव के बिद 2020 में होने वाले विधानसभा चुनाव में भी वैसा ही हाल रहेगा. वे अपनी जमानत भी नहीं बचा पाएंगे. उन्होंने कहा कि आरजेडी के जितने भी विधायक हैं, वे नीतीश कुमार के सामने बौने हैं.

आरजेडी सदन की परम्परा का पालन नहीं कर सकी. सरकार सदन में बजट पेश करती है तो नेता प्रतिपक्ष ही बहस की शुरुआत करते हैं, इसके बाद ही वित्त मंत्री सरकार का पक्ष रखते हैं. लेकिन इस बार तेजस्वी यादव की गैरमौजूदगी से इस परम्परा का पालन नहीं हो सका. बीजेपी विधायक जीवेश मिश्रा ने कहा कि सदन में आए होते तो निश्चित रूप से जनता की चिंता करते.

सत्ता पक्ष के बयान पर आरजेडी ने भी पलटवार किया है. पार्टी के विधायक भाई वीरेंद्र ने कहा है कि आने वाले विधानसभा चुनाव में पता चल जाएगा कि कौन बौना है. जनता मालिका है. जनता तय करेगी कि बौना कौन है और लंबा कौन. उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव को बीजेपी के लोगों ने फंसाया है. आरजेडी के 79 विधायक मर नहीं गए हैं. सरकार को कटघरे में खड़ा करने और घेरने का काम किए हैं.

तेजस्वी यादव के सदन में नहीं आने को लेकर जब राबड़ी देवी से सवाल किया गया तो उन्होंने कहा की यह मामला खत्म हो चुका है. उनका इशारा आज सदन के अंतिम दिन की तरफ था.

लाइव टीवी देखें-: