पटना: ममता बनर्जी को सपोर्ट करने कोलकाता पहुंचे तेजस्वी, पीएम मोदी पर साधा निशाना

तेजस्वी यादव ने साफ कह दिया है कि मोदी जी पीएम कब तक रहेंगे ये उन्हें समझना चाहिए. सबको जाना पडता है और वो भी जाएंगे. ऐसे में संवैधानिक संस्थानों से खिलवाड़ ठीक नहीं है.

पटना: ममता बनर्जी को सपोर्ट करने कोलकाता पहुंचे तेजस्वी, पीएम मोदी पर साधा निशाना
तेजस्वी यादव ममता बनर्जी को सपोर्ट करने के लिए कोलकाता पहुंच चुके हैं.

पटना: तेजस्वी यादव, ममता बनर्जी को सपोर्ट करने कोलकाता पहुंच चुके हैं. लेकिन कोलकाता जाने से पहले तेजस्वी यादव ने पीएम को चेतावनी भी दे डाली है. तेजस्वी यादव ने साफ कह दिया है कि मोदी जी पीएम कब तक रहेंगे ये उन्हें समझना चाहिए. सबको जाना पडता है और वो भी जाएंगे. ऐसे में संवैधानिक संस्थानों से खिलवाड़ ठीक नहीं है.

ममता बनर्जी बनाम सीबीआई का मामला विपक्षी एकता का केन्द्र बनता जा रहा है. ममता बनर्जी को सपोर्ट करने तेजस्वी यादव भी कोलकाता पहुंच चुके हैं. पटना में पत्रकारों से बात करते हुए तेजस्वी यादव ने कोलकाता में हुई घटना की निंदा की. तेजस्वी यादव ने कहा कि कोलकाता की घटना संवैधानिक संस्था पर प्रहार है. बीजेपी ने संवैधानिक संस्थाओं को हाईजैक कर लिया है. संवैधानिक संस्थाएं बीजेपी के प्रकोष्ठ की तरह काम कर रही हैं. सीबीआई ईडी इनकम टैक्स बीजेपी के इशारों पर बीजेपी के फायदे के लिए काम कर रही हैं.

बंगाल में जिस घोटाले की चर्चा हो रही है उसी घोटाले के एक आरोपी नेता बीजेपी के साथ चले गये तो वो राजा हरिश्चन्द्र हो गए हैं. लेकिन अखिलेश यादव, ममता बनर्जी, मायावती, चन्द्रबाबू नायडू नहीं गए तो उन्हें परेशान किया जा रहा. मेरे पूरे परिवार के पीछे मोदी जी ने केन्द्रीय एजेंसी लगा दी है. नरेंद्र मोदी ने विकास का काम नहीं किया सिर्फ जुमलेबाजी में अपना समय बर्बाद किया है. देश की जनता उन्हें माफ नहीं करेगी.

तेजस्वी यादव ने कहा कि नरेन्द्र मोदी मेरे अभिभावक जैसे हैं. लेकिन मैं उनसे ये कहना चाहता हूं कि पीएम का पद एक गरिमा का पद होता है. वो पीएम कितने दिनों तक रह पाएंगे. जो रहता है उसे जाना भी पडता है. लेकिन ये संस्थाएं( केन्द्रीय एजेंसी) स्थाई रूप से रहती हैं. देश के संवैधानिक संस्थानों से खिलवाड कतई न करें. देश बर्बाद हो जाएगा. इन हथकंडों के जरिये चुनाव नहीं जीता जा सकता.

नरेंद्र मोदी को बायइलेक्शन का रिजल्ट याद रखना चाहिए. और उन्हें खुद भी ईमानदारी से काम करना चाहिए साथ ही केन्द्रीय एजेंसियों को भी ईमानदारी से काम करने की स्वतंत्रता देनी चाहिए.

इधर कोलकाता मामले पर सीएम नीतीश कुमार की चुप्पी पर तेजस्वी यादव ने हमला बोला . तेजस्वी यादव ने कहा कि जेपी लोहिया को मानने वाले लोग भी मसले पर खामोश हैं ये हैरत की बात है. उन्हें अपनी चुप्पी तोडनी चाहिए. ऐसा न हो की सीट बंटवारे के विवाद के बाद उन्हें चिराग पासवान से ट्वीट करवाना पड़े.