BJP MLA का Jamtara Cyber अपराधियों से Strong कनेक्शन! सोशल मीडिया पर वायरल विवादित बयान

जब रणधीर सिंह इस तरह के बयान लेकर चर्चा में रहते हैं. इससे पूर्व भी वह कोयला चोरों की मुखालफत करने के लिए चित्रा थाना का घेराव और मजमा लगाकर थाना प्रभारी को धमकाने का भी उनका वीडियो वायरल हो चुका है.

BJP MLA का Jamtara Cyber अपराधियों से Strong कनेक्शन! सोशल मीडिया पर वायरल विवादित बयान
BJP MLA का जामताड़ा साइबर अपराधियों से Strong कनेक्शन! सोशल मीडिया पर वायरल विवादित बयान.

देबाशीष/जामताड़ा: झारखंड में जामताड़ा साइबर अपराधियों का साइबर नेटवर्क सबके सर चढ़ कर बोलता है. पूरे विश्व में इस साइबर नेटवर्क की चर्चा होती रहती है. इस बीच जामताड़ा साइबर अपराधियों को लेकर विधायक रणधीर सिंह के बयान के बाद विवाद उभरने लगा है. उन्होंने साइबर अपराधियों के स्किल की तारीफ करते हुए अपराधों को शह दे दी है. इसके बाद से ही सोशल मीडिया पर लगातार इस बयान की आलोचना हो रही है.

विधायक के बयान के बाद लोगों का मानना है कि वे साइबर अपराधियों और कोयला चोरों का मनोबल बढ़ा रहे हैं. सरेआम एक सभा में विधायक जी का इस तरह कहना अपराधियों के हौसले बुलंद करने के अलावा और कुछ नहीं कहा जा सकता. झारखंड के सारठ विधानसभा के विधायक तथा पूर्व कृषि मंत्री रणधीर सिंह हैं. विधायक ने तो भरी सभा में विवादित भाषण तो दे दिया लेकिन अब यह भाषण विभिन्न सोशल मीडिया के प्लेटफार्म पर खूब वायरल हो रहा है.

वीडियो सोशल मीडिया में खूब वायरल हो रहा है. बताया जा रहा है कि जिस गांव में यह कार्यक्रम हो रहा था उस गांव के 80 फ़ीसदी युवा साइबर अपराध में से जुड़े हैं. इसी बीच जब विधायक को संबोधन का मौका मिला तो वह साहिबा अपराधियों के पक्ष में खुलकर बोले यहां तक कि उन्होंने साइबर अपराधियों को पुलिस द्वारा तंग करने पर थाना घेराव की भी धमकी दे डाली. यह पहला अवसर नहीं है जब रणधीर सिंह इस तरह के बयान लेकर चर्चा में रहते हैं. इससे पूर्व भी वह कोयला चोरों की मुखालफत करने के लिए चित्रा थाना का घेराव और मजमा लगाकर थाना प्रभारी को धमकाने का भी उनका वीडियो वायरल हो चुका है.

सारठ के विधायक सह पूर्व कृषि मंत्री रणधीर सिंह द्वारा साइबर अपराधियों को शह देने का मामला अब तूल पकड़ता जा रहा है. मामले को लेकर संथाल परगना के डीआईजी सुदर्शन मंडल जांच के लिए देवघर जिले के चितरा पहुंचे तथा पूरी जानकारी ली. डीआईजी ने बताया कि जांच के क्रम में यह बात सामने आई है कि वायरल वीडियो पिछले साल नवंबर महीना का है. जिसमें विधायक रणधीर सिंह एक कार्यक्रम के दौरान इस तरह की बातें कही थी. डीआईजी ने कहा कि पूरे मामले की जांच चल रही है और जांच उपरांत मामले पर कार्यवाही होगी.