close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गोपालगंज: हाई टेंशन तार की चपेट में आने से दो बहनों की दर्दनाक मौत, माता-पिता भी झुलसे

बीडीओ ने बताया की घायल बच्चो के पिता और मां की हालत अब खतरे से बाहर है. मृतक बच्चों के परिजनों को चार-चार लाख रूपये मुआवजा दिया जाएगा.  

गोपालगंज: हाई टेंशन तार की चपेट में आने से दो बहनों की दर्दनाक मौत, माता-पिता भी झुलसे
यह घटना गोपालगंज के यादोपुर के रजवाही गांव की है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

गोपालगंज: बिहार के गोपालगंज में हाई टेंशन तार की चपेट में आने से जहा दो सगी बहनों की दर्दनाक मौत हो गई. वहीं, दुर्घटना में अपनी दोनों बेटियों को बचाने गए मां और पिता भी गंभीर रूप से झुलस गए. जिन्हें देर रात सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है. घटना यादोपुर के रजवाही गांव की है.

मिली जानकारी के अनुसार बीती रात यादोपुर के रजवाही गांव में अचानक तेज हवा की आंधी चली. और इसी आंधी में 11 हजार का हाई टेंशन तार अचानक टूटकर नीचे गिर गया. इसी दौरान घर वापस लौट रही दो सगी बहनें 17 वर्षीय नीलू कुमारी और 15 वर्षीय पिंकी कुमारी हाई टेंशन तार की चपेट में आ गई. एक बहन को बचाने गई दूसरी बहन भी तार में लटक गई. जिसकी वजह से दोनों बहनों की मौके पर ही झुलस कर मौत हो गई. 

वहीं, उनके माता-पिता दोनों बेटियो को बचाने के क्रम में गंभीर रूप से झुलस गए. दोनों घायलों को सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है. जहां उनकी हालत अब खतरे से बाहर है.

मौके पर पहुंचे सदर प्रखंड के बीडीओ पंकज कुमार शक्तिधर ने बताया कि घटना कि बाद मौके पर पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया है. उनके द्वारा बिजली विभाग के कार्यपालक अभियन्ता से बात की गयी है. बिजली कम्पनी के द्वारा प्रावधान के तहत जो भी उचित मुआवजा निर्धारित है. उसे पीड़ित परिजनों को दिया जायेगा. 

बीडीओ ने बताया की घायल बच्चो के पिता और मां की हालत अब खतरे से बाहर है. मृतक बच्चों के परिजनों को चार-चार लाख रूपये मुआवजा दिया जाएगा.

वहीं, मृतक बच्चो के परिजनों का आरोप है की बार बार बिजली विभाग को जर्जर तार और हाई टेंशन तार को बदलने की सूचना दी गई थी. लेकिन कोई कारवाई नहीं की गई. जिसकी वजह से यह हादसा हुआ है. परिजनों ने बताया की तार की चपेट में आने से कई झोपड़ियां भी जल गयी है. जिसमे लाखों का नुकसान हुआ है.