close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अपने 'खून बहाने' की धमकी के बयान से पलटे उपेंद्र कुशवाहा, कहा- 'मैंने ऐसा कुछ नहीं कहा'

उपेंद्र कुशवाहा ने इस बयान पर अपनी प्रतिक्रिया दी है और कहा है कि उन्होंने ऐसा कोई भी बयान नहीं दिया है. 

अपने 'खून बहाने' की धमकी के बयान से पलटे उपेंद्र कुशवाहा, कहा- 'मैंने ऐसा कुछ नहीं कहा'
उपेंद्र कुशवाहा के बयान की हर चरफ आलोचना हुई थी. (फाइल फोटो)

पटना: मंगलवार को उपेंद्र कुशवाहा के हिंसा की धमकी और रिजल्ट लूट का बयान देने के बाद हर तरफ उनकी आलोचना हुई. अब कुशवाहा ने इस बयान पर अपनी प्रतिक्रिया दी है और कहा है कि उन्होंने ऐसा कोई भी बयान नहीं दिया है. उन्होंने कहा कि खून की नदियां बहेंगी मैंने कभी नहीं कहा था. मेरा मतलब था कि जनता में आक्रोश बढ़ रहा है और अगर कुछ भी गड़बड़ करेंगे तो जनता उसका जवब देगी. जनता के आक्रोश को रोकना मुश्किल होगा. और इसके जिम्मेदार बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और भारत के प्रधानमंत्री होंगे. 

आपको बता दें कि मंगलवार को महागठबंधन की प्रेस कॉन्फ्रेंस में धमकी देते हुए कहा था कि वोट की रक्षा के लिए जरूरत पड़ी तो हथियार भी उठाना चाहिए. कुशवाहा ने बीजेपी पर हमला बोलते कहा कि चुनाव जीतने के लिए सारे कर्म किए हैं. हर तरह के हथकंडे अपनाए हैं. 

 

कुशवाहा ने आगे कहा, "एक्जिट पोल भी उसी रणनीति का हिस्सा है जिसे मैं सिरे से खारिज करता हूं. हिंदुस्तान में पहली बार रिजल्ट लूट किया जा रहा है. बीजेपी का कुछ भी नहीं चलने वाला है. महागठबंधन की बढ़त है और महागठबंधन बिहार में जीत रहा है. जनता के बीच बीजेपी के खिलाफ आक्रोश है. लोगों का आक्रोश है और सड़कों पर खून बहेगा. 

उपेंद्र कुशवाहा के बयान पर पलटवार करते हुए चिराग पासवान सहित कई नेताओं ने बयान दिया है. चिराग पासवान ने कहा है कि उपेंद्र कुशवाहा के बयान को बहुत गंभीरता से लेने की जरूरत है और खास तौर पे प्रशासन को उन पर नजर रखने की ज़रूरत है. साथ ही उन्होंने कहा कि इस तरह का बयान देकर वो भावनाओं को आहत कर रहे हैं और लोगों को भड़काने का काम कर रहे हैं. ये बयान जाहिर करता है की हार से हताश होकर वो इस तरह के बयान दिए जा रहे हैं. कम से कम उपेंद्र कुशवाहा को कुछ भी कहने से पहले 10 बार सोच लेना चाहिए था. 

वहीं, बीजेपी उपाध्याक्ष मृत्युंजय झा ने कहा है कि वो मानसिक रूप से ग्रसित हैं. वो ऐसा बयान देकर क्या साबित करना चाहते हैं. बीजेपी नेता प्रेम पटेल ने कहा है कि बिहार में लाठी-गोली की सरकार का समय खत्म हो गया है. कुशवाहा का बयान हार की बौखलाहट का प्रतीक है. बिहार डरने वाला नहीं है और धमका नहीं सकते हैं. 

जेडीयू ने भी उपेंद्र कुशवाहा के बयान पर पलटवार किया है. अजय आलोक ने कहा कि आरजेडी के साथ जो पार्टी रहती है वो खून खराबे की ही बात करती है. इसे खिसियानी बिल्ली खंभा नोचे कहते हैं. आरजेडी का वायरस अब कुशवाहा में घुस गया है लेकिन बिहार में प्रशासन पूरी तरह से सतर्क है.