close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

साक्षी महाराज बोले- 'तबरेज तो याद आता है, लेकिन सैकड़ों हिंदू मार दिए वो याद नहीं आते'

तबरेज अंसारी के साथ हुई मॉब-लिंचिंग पर सवाल करते ही साक्षी महाराज मीडिया पर भड़क उठे और कहा कि 'यह मीडिया के लिए दुर्भाग्य की बात है कि तबरेज अंसारी तो याद आता है, लेकिन सैकड़ों हिंदू मार दिए जाते हैं वह याद नहीं आते.'

साक्षी महाराज बोले- 'तबरेज तो याद आता है, लेकिन सैकड़ों हिंदू मार दिए वो याद नहीं आते'
साक्षी महाराज ने आगे कहा कि 'कश्मीर में सैनिकों के साथ क्या हो रहा है वह आपको याद नहीं आता.' (फाइल फोटो)

नई दिल्लीः उत्तर प्रदेश के उन्नाव से बीजेपी सांसद साक्षी महाराज अक्सर ही अपने विवादित बयानों को लेकर चर्चा में बने रहते हैं. ऐसे में एक बार फिर अपने विवादित बयान को लेकर वह चर्चा का विषय बन बैठे हैं. इस बार सांसद साक्षी महाराज ने झारखंड के जमशेदपुर में चोरी के शक में मॉब-लिंचिंग का शिकार तबरेज अंसारी के मामले में विवादस्पद बयान दिया है. मीडिया के तबरेज अंसारी के साथ हुई मॉब-लिंचिंग पर सवाल करते ही साक्षी महाराज मीडिया पर भड़क उठे और कहा कि 'यह मीडिया के लिए दुर्भाग्य की बात है कि तबरेज अंसारी तो याद आता है, लेकिन सैकड़ों हिंदू मार दिए जाते हैं वह याद नहीं आते.'

साक्षी महाराज ने आगे कहा कि 'कश्मीर में सैनिकों के साथ क्या हो रहा है वह आपको याद नहीं आता. चांदनी चौक में मंदिर तोड़ दिया गया वह भी आपको दिखाई नहीं देता. छोटी-छोटी मासूम लड़कियों के साथ आए दिन बलात्कार हो रहे हैं, वह भी आपको नहीं दिख रहा. केवल एक तबरेज अंसारी की ही बात करेंगे आप. हिंदुस्तान में और भी लोग रहते हैं उनके बारे में कुछ क्यों नहीं पूछते.'

जेल में बंद रेप के आरोपी MLA से मिलने पहुंचे साक्षी महाराज, बोले- 'धन्यवाद देना था'

बता दें साक्षी महाराज कल बीजेपी के सदस्यता अभियान में शामिल हुए थे. इसी दौरान साक्षी महाराज ने झारखंड के जमशेदपुर में हुई मॉब लिंचिंग पर यह विवादस्पद बयान दिया था. बता दें जमशेदपुर में बीते 18 जून को चोरी के शक में तबरेज अंसारी के साथ कथित तौर पर मारपीट हुई थी, जिसके बाद उसे पुलिस के हवाले कर दिया गया था. पुलिस ने चोरी के मामले में तबरेज को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया था, जहां तबरेज की हालत बिगड़ने पर उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां 22 जून को उसकी मौत हो गई. 

साक्षी महाराज का विवादित बयान, 'ममता बनर्जी कहीं हिरण्यकश्यप के खानदान की तो नहीं'

बता दें हमलावरों ने इस पूरी घटना का एक वीडियो भी बनाया था, जो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था और इसके बाद इस वीडियो पर काफी सवाल खड़े हुए थे. जिन हमलावरों ने तबरेज को चोरी के शक में पकड़ा था वह उस पर लगातार 'जय श्री राम' और 'जय हनुमान' बोलने का दवाब बना रहे थे और उसके साथ मारपीट कर रहे थे. वहीं इस मामले के सामने आने के बाद 2 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है और कुल 11 लोगों को गिरफ्तार भी किया गया है.