झारखंड रिजल्ट से क्या बदलेगा बिहार का सियासी समीकरण, खुश होंगे नीतीश कुमार?

झारखंड रिजल्ट से क्या बदलेगा बिहार का सियासी समीकरण, खुश होंगे नीतीश कुमार?

पिछले कुछ समय से बिहार में बीजेपी और जेडीयू के बीच दरार की खबरें कई बार सामने चुकी है. कई मुद्दों पर बीजेपी और जेडीयू नेताओं ने एक दूसरे के खिलाफ बयानबाजी की है. ऐसे में संभावना जताई जा रही थी कि बिहार में एनडीए टूट सकती है और बीजेपी अकेले चुनाव लड़ सकती है.

झारखंड रिजल्ट से क्या बदलेगा बिहार का सियासी समीकरण, खुश होंगे नीतीश कुमार?

रांची: झारखंड विधानसभा चुनाव के रुझानों में आ रहे परिणाम बीजेपी के लिए चौंकाने वाले हैं. अब तक बीजेपी रुझान में जहां 29 सीटों पर आगे हैं वहीं, महागठबंधन 40 सीटों पर आगे चल रही है. 

बीजेपी के लिए मायूसी भरे इस परिणास से बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार निश्चित रूप से खुश हो सकते हैं. क्योंकि अगले साल बिहार में भी विधानसभा चुनाव है. झारखंड के परिणाम के बाद जेडीयू ये मान के चल सकती है कि बिहार विधानसभा चुनाव में गठबंधन में लड़ना बीजेपी के लिए मजबूरी हो सकती है. 

झारखंड विधानसभा चुनाव परिणाम 2019: रुझानों में JMM गठबंधन को बढ़त, BJP 31 सीटों पर आगे 

पिछले कुछ समय से बिहार में बीजेपी और जेडीयू के बीच दरार की खबरें कई बार सामने चुकी है. कई मुद्दों पर बीजेपी और जेडीयू नेताओं ने एक दूसरे के खिलाफ बयानबाजी की है. ऐसे में संभावना जताई जा रही थी कि बिहार में एनडीए टूट सकती है और बीजेपी अकेले चुनाव लड़ सकती है. लेकिन झारखंड की स्थिति देखने के बाद शायद ही बीजेपी जेडीयू से अलग होने की हिम्मत करे. 

बहरहाल, झारखंड में अभी तक के रुझानों में बीजेपी पीछे है और आजसू के अलग होने का फैसला बीजेपी के लिए भारी पड़ता दिख रहा है. कई ऐसी विधानसभा सीटें हैं जहां मार्जिन काफी कम है. 

विधानसभा चुनाव में बीजेपी के साथ सीटों का तालमेल नहीं हो पाने के कारण सुदेश महतो की पार्टी आजसू ने अकेले चुनाव लड़ने का फैसला किया. बीजेपी इसे फ्रेंडली फाइट मानकर चल रही थी लेकिन ये रणनीति भारी पड़ती नजर आ रही है. 

Trending news