सागर धनखड़ हत्या मामला: क्राइम ब्रांच को मिली सफलता, फरार चल रहे दो आरोपी गिरफ्तार
topStories0hindi1476872

सागर धनखड़ हत्या मामला: क्राइम ब्रांच को मिली सफलता, फरार चल रहे दो आरोपी गिरफ्तार

सागर धनखड़ की हत्या कर लगभग सालभर से फरार चल रहे दो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस ने इनको पकड़ने के लिए आरोपियों पर 50-50 हजार का ईनाम भी रख रखा था. 

सागर धनखड़ हत्या मामला: क्राइम ब्रांच को मिली सफलता, फरार चल रहे दो आरोपी गिरफ्तार

राज कुमार भाटी/नई दिल्ली: ओलंपियन सुशील कुमार (Olympian Sushil Kumar) के दो शातिर अपराधी सहयोगी ARSC अपराध शाखा ने गिरफ्तार किया है. सागर धनखड़ के सनसनीखेज हत्याकांड में वांछित हैं. इनके ऊपर पुलिस ने 50 हजार रुपये नकद ईनाम घोषित कर रखा था. 

ये भी पढ़ें: Instagram पर फेक आईडी बना की लड़कियों से दोस्ती, फोटो एडिट कर किया ब्लैकमेल, अब गिरफ्तार

बता दें कि दोनों आरोपियों को क्राइम ब्रांच की टीम मंगेश त्यागी और इंस्पेक्टर रॉबिन त्यागी ने एसीपी अरविंद कुमार की कड़ी निगरानी में  गिरफ्तार किया है. पुलिस ने अंकित डबास (28) और जोगिंदर काला (43) पर 50-50 हजार रुपये का ईनाम घोषित कर रखा था. पुलिस ने इनको प्रतिभाशाली पहलवान सागर धनखड़ की हत्या और अन्य मामलों में गिरफ्तार किया है. 

आरोपियों ने सागर धनखड़ की हत्या को अंजाम देने के लिए पहले उसे छत्रसाल स्टेडियम लाए, फिर उसकी बेरहमी से पिटाई कर उसकी हत्या कर दी थी. 5 मई 2021 को पीसीआर को एक कॉस आई थी कि पीएस मॉडल टाउन में छत्रसाल स्टेडियम के अंदर फायरिंग हुई है. इस पर स्थानीय पुलिस और पीसीआर मौके पर पहुंचे. इसके बाद उन्हें पता लगा कि स्टेडियम के पार्किंग क्षेत्र में झगड़ा हुआ था, जिसके बाद घायलों को बीजेआरएम अस्पताल जहांगीर पुरी लाया गया. 

इसके बाद सीन ऑफ क्राइम की जांच के लिए जिला क्राइम टीम को बुलाया गया. निरीक्षण के दौरान मौके पर पांच वाहन मिले. संदिग्ध वाहनों और एसओसी के निरीक्षण के दौरान, महिंद्रा स्कॉर्पियो कार वाले एक वाहन से जिंदा कारतूस से लदी एक डबल बैरल बंदूक और तीन मोबाइल फोन बरामद किए गए. सीन ऑफ क्राइम के पास ग्रीन पार्क इलाके से खून से सने दो लकड़ी के डंडे भी बरामद किए गए. स्थानीय पूछताछ में पता चला कि आरोपी सुशील पहलवान व उसके साथियों ने घायलों को पीटा है.

जांच के दौरान कुल अठारह (18) अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया था, लेकिन दो अभियुक्त जोगिंदर उर्फ ​​काला और अंकित डबास अपराध करने के बाद से फरार थे. दोनों खुद को छिपा रहे थे और लगातार ठिकाने बदलते रहते थे.

Trending news