MP: डिंडौरी कलेक्टर ने खनिज अधिकारी को किया निलंबित, अवैध रेत खनन में शामिल होने के आरोप

ऑडियो में खनिज अधिकारी सुनील उइके का माफियाओं के साथ मिलीभगत कर रेत के अवैध कारोबार में लिप्त होने की बात सामने आई है.

MP: डिंडौरी कलेक्टर ने खनिज अधिकारी को किया निलंबित, अवैध रेत खनन में शामिल होने के आरोप
खनिज अधिकारी सुनील उइके निलंबित

डिंडौरी: डिंडौरी जिले में खनिज अधिकारी सुनील उइके के निलंबित होने की खबर सामने आई है, एक वायरल हुए ऑडियो के आधार पर सुनील उइके को निलंबित किया गया है. इस ऑडियो में खनिज अधिकारी सुनील उइके का माफियाओं के साथ मिलीभगत कर रेत के अवैध कारोबार में लिप्त होने की बात सामने आई है. जिसके बाद कलेक्टर बी कार्तिकेयन ने कार्रवाई करते हुए सुनील उइके को निलंबित किया.

डिंडौरी जिले में खनिज अधिकारी का ऑडियो वायरल होने के बाद हड़कंप मचा हुआ है. वायरल ऑडियो के मुताबिक यह साफ जाहिर होता है कि खनिज अधिकारी सुनील उइके माफियाओं के साथ मिलीभगत कर रेत के अवैध कारोबार में लिप्त हैं. आपको बता दें कि खनिज अधिकारी सारे नियम कायदों को ताक में रखकर बुढनेर नदी में अवैध रूप से रेत की खदान का संचालन कर रहे हैं, हालांकि ZEE MEDIA इस वायरल आडियो की पुष्टि नहीं करता है.
 वायरल आडियो के अलावा जेसीबी मशीन के मालिक और उसके चालक ने भी खनिज अधिकारी और रेत माफियाओं की सांठगाठ को लेकर बड़े खुलासे किये हैं. जेसीबी मशीन के मालिक गणेश ठाकुर ने बताया कि खनिज अधिकारी, स्थानीय सरपंच और कांग्रेस नेत्री मिलकर खितौली गांव स्थित बुढनेर नदी पर रेत की अवैध खदान संचालित कर रहे हैं. दरअसल खितौली गांव में बुढनेर नदी से रेत निकालने के लिये रास्ता बनाने का काम गणेश को ही दिया गया था, करीब 15 दिनों तक कड़ी मशक्कत के बाद गणेश ने नदी तक रास्ता तो बना दिया, लेकिन अब उसे काम के बदले रूपये देने में आनाकानी की जा रही है. 

गणेश ने बताया कि उसने खनिज अधिकारी के कहने पर काम किया था और रूपये नहीं मिलने के कारण वो मशीन की किश्त तक जमा नहीं कर पा रहा है. वहीं जेसीबी का चालक किशन यादव भी खून पसीने की कमाई का पैसा नहीं मिलने से निराश है. जब हमने इस मामले में खनिज अधिकारी से बात की तो साहब अंजान बनते हुये गोलमोल बातें करते नजर आ रहे हैं. वहीं बीजेपी नेता पंकज तेकाम ने अवैध कारोबार में लिप्त अधिकारीयों एवं कांग्रेस नेताओं पर गंभीर आरोप लगाते हुये दमन माफिया दल पर निशाना साधा है.