MP: रेप पीड़िता को देखने अस्पताल पहुंचे विधायक ने परिवार को दिया धन्यवाद ज्ञापित करने का सुझाव

हजारों की तादत में लोग मासूम को इंसाफ दिलाने के लिए लोग सड़क पर उतर आए हैं. ऐसे में भाजपा के कई नेता बच्ची की हालत देखने अस्पताल पहुंचे

MP: रेप पीड़िता को देखने अस्पताल पहुंचे विधायक ने परिवार को दिया धन्यवाद ज्ञापित करने का सुझाव
विधायक सुदर्शन गुप्ता ने पीड़ित परिवार को दी धन्यवाद ज्ञापित करने की नसीहत

नई दिल्लीः मध्प्रदेश के मंदसौर में 7 साल की मासूम के साथ रेप करने वाले आरोपी की गिरफ्तारी के बाद से ही प्रदेश भर में आरोपी को फांसी की सजा देने की मांग शुरू हो गई है. 7 वर्षीय मासूम को इंसाफ दिलाने के लिए मंदसौर सहित नीमच में भी आक्रोश देखने को मिल रहा है. जहां हजारों की तादत में लोग मासूम को इंसाफ दिलाने के लिए लोग सड़क पर उतर आए हैं. ऐसे में भाजपा के कई नेता बच्ची की हालत देखने अस्पताल पहुंचे, लेकिन लगता है वहां पहुंचकर वह भूल गए कि आखिर वह आए किस काम के लिए थे.

मंगलवार को बच्ची के साथ हुई थी दरिंदगी
दरअसल, शुक्रवार की सुबह सांसद सुधीर गुप्ता पीड़ित बच्ची का हाल-चाल जानने एमवाय अस्पताल पहुंचे थे. सांसद सुधीर गुप्ता के साथ इस दौरान इंदौर के कुछ विधायक भी मौजूद थे. सांसद सुधीर गुप्ता जब बच्ची के परिजनों से मिलने पहुंचे तो सभी विधायकों ने अपनी पार्टी के गुणगान शुरू कर दिये और प्रचार-प्रसार में जुट गए. यही नहीं यहां पहुंचे विधायक सुदर्शन गुप्ता ने तो पीड़ित परिवार को सांसद साहब को धन्यवाद ज्ञापित करने की नसीहत तक दे डाली.

विधायक सुदर्शन गुप्ता का पीड़ित परिवार को सुझाव
वहीं आर्थिक तौर पर कमजोर परिवार को भी लगा कि सांसद साहब के पास समय की कमी रहती है और वह बड़ी मुश्किल से देखने को मिलते हैं. ऐसे में पीड़िता के परिवार ने भी सांसद सुधीर गुप्ता को हांथ जोड़कर धन्यवाद दिया. लेकिन, इससे पीड़िता का हाल-चाल जानने पहुंचे विधायक सुदर्शन गुप्ता के असल इरादे जरूर जनता के सामने आ गए. भला ऐसे में पीड़ित परिवार की मनोदशा समझने की आवश्यकता थी न की धन्यवाद ज्ञापित करने की.

ऐसे दरिंदों को जीवित रहने का अधिकार नहीं है - सीएम शिवराज सिंह चौहान
बता दें बच्ची के अपहरण के बाद हुए दुष्कर्म से पूरे प्रदेश में आक्रोश का माहौल है. हर तरफ बच्ची को इंसाफ दिलाने की बात की जा रही है. वहीं बच्ची के साथ हुए दुष्कर्म पर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने भी आरोपी के प्रति आक्रोश जाहिर किया है और उसे कड़ी से कड़ी सजा दिलाने का ऐलान किया है. 7 साल की मासूम के साथ हुए रेप पर सीएम शिवराज न कहा कि "ऐसे दरिंदे धरती पर बोझ हैं. इन्हें जीवित रहने का अधिकार नहीं है."