close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

छत्‍तीसगढ़: NIA करेगी भीमा मंडावी हत्या मामले की जांच

10 अप्रैल को नक्सलियों ने दन्तेवाड़ा में भीमा मंडावी की हत्या कर दी थी. भीमा मंडावी दन्तेवाड़ा सीट से विधायक थे. केंद्रीय गृह मंत्रालय ने लिखा जांच के लिए NIA को पत्र था. बस्तर में पहले चरण का चुनाव शोर थमते ही भीमा मंडावी की हत्या हुई थी.

छत्‍तीसगढ़: NIA करेगी भीमा मंडावी हत्या मामले की जांच

रायपुर: पिछले महीने नक्‍सली हमले में मारे गए बीजेपी विधायक भीमा मंडावी की हत्‍या की जांच अब एनआईए करेगी. 10 अप्रैल को नक्सलियों ने दन्तेवाड़ा में भीमा मंडावी की हत्या कर दी थी. भीमा मंडावी दन्तेवाड़ा सीट से विधायक थे. केंद्रीय गृह मंत्रालय ने लिखा जांच के लिए NIA को पत्र था. बस्तर में पहले चरण का चुनाव शोर थमते ही भीमा मंडावी की हत्या हुई थी.

147,148,149,302,396,307, 120(B) समेत 14 धाराओं में एफआईआर दर्ज हुई थी. अब प्रदेश की एजेंसी इस मामले में जांच नहीं कर पायेगी. NIA एक्ट की धारा 6 की उपधारा 5 का हुआ इस्तेमाल. इस धारा में बगैर राज्य की मांग किये केंद्र जांच करा सकती है.

छत्तीसगढ़ में भाजपा विधायक की हत्या का मास्टरमाइंड मारा गया
इससे पहले दंतेवाड़ा में कुछ दिनों पहले ही भीमा मंडावी की हत्या के आरोपी मास्टरमाइंड नक्सली को पुलिस ने मार गिराया. पुलिस ने कहा, "मादव मुय्या, पुलिस के साथ एक गोलीबारी में मारा गया." पुलिस महानिरीक्षक (बस्तर रेंज) विवेकानंद सिन्हा ने आईएएनएस को बताया कि 30 वर्षीय माओवादी का शव किरंदुल क्षेत्र में मिला जहां वह छत्तीसगढ़ पुलिस के साथ मुठभेड़ में मारा गया.

सिन्हा ने कहा, "माओवादी के सिर पर 8 लाख रुपये का इनाम था. एक गुप्त सूचना के आधार पर इलाके में उसकी मौजूदगी की खबर के बाद जब पुलिस टीम उसे गिरफ्तार करने पहुंची तो गोलीबारी में वह मारा गया."