रायपुर AIIMS ने तैयार की ऐसी तकनीक जिससे 45 मिनट और 500 रुपए में होगा कोविड-19 टेस्ट

रायपुर एम्स के माइक्रोबायलॉजी विभाग के चिकित्सकों और वैज्ञानिकों ने आरटी-पीसीआर की नई विधि तैयार की है. इसमें सिंगल ट्यूब रिएक्शन टेस्ट की मदद से 45 मिनट से 1 घंटे के अंदर ही कोरोना वायरस की पहचान की जा सकती है.

रायपुर AIIMS ने तैयार की ऐसी तकनीक जिससे 45 मिनट और 500 रुपए में होगा कोविड-19 टेस्ट
अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान रायपुर, छत्तीसगढ़.

रायपुर: छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान के माइक्रोबायलॉजी विभाग ने कोविड-19 के लिए आरटी-पीसीआर का नया टेस्ट तैयार किया है. कोविड-19 टेस्ट की इस नई पद्धति से अब 45 मिनट से 1 घंटे के अंदर ही सैंपल का कंफर्म रिजल्ट मिल जाएगा.

इसके साथ ही इस नई तकनीक से कोविड-19 टेस्ट करने में खर्च भी बहुत कम आएगा. रायपुर एम्स के माइक्रोबायलॉजी के मुताबिक आरटी-पीसीआर के नए टेस्ट में 500 रुपए की लागत अधिकतम लागत आएगी.

छत्तीसगढ़ में पिछले 36 घंटे में कोरोना के 28 नए केस, राज्य में संक्रमितों की संख्या 95 पहुंची 

माइक्रोबायलॉजी विभाग के निदेशक प्रो. डॉ. नितिन एम. नागरकर ने बताया कि डिपार्टमेंट के चिकित्सकों और वैज्ञानिकों ने आरटी-पीसीआर की नई विधि तैयार की है. इसमें सिंगल ट्यूब रिएक्शन टेस्ट की मदद से 45 मिनट से 1 घंटे के अंदर ही कोरोना वायरस की पहचान की जा सकती है.

इसके अंतर्गत सार्स कोविड-2 के आरडीआरपी और एन जीन और आरएनएएसई पी जीन की मदद से आसानी से पहचाना जा सकता है. उन्होंने बताया कि यह टेस्ट स्क्रिनिंग और कंफर्म टेस्ट में एक साथ प्रयोग किया जा सकता है. इसकी मदद से 94 सैंपल्स एक साथ टेस्ट किए जा सकते हैं. इसकी लागत लगभग 500 रुपये प्रति टेस्ट आएगी.

WATCH LIVE TV