close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गुजरात पहुंचे शिवराज सिंह चौहान, बोले- 'पूरे देश में पतन की कगार पर है कांग्रेस'

शिवराज सिंह चौहान ने सूरत में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा कि '2014 में हुए लोकसभा चुनाव में गुजरात ने सभी सीटों पर भारतीय जनता पार्टी को जीत दिलाई थी और 2019 में भी ने ही जीत दर्ज कराई.'

गुजरात पहुंचे शिवराज सिंह चौहान, बोले- 'पूरे देश में पतन की कगार पर है कांग्रेस'
'कर्नाटक में फ्लोर टेस्ट में भाजपा पास होगी. कांग्रेस हर तरफ गन्दी राजनीति कर रही है.': शिवराज सिंह चौहान (फाइल फोटो)

नई दिल्लीः मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ भाजपा नेता शिवराज सिंह चौहान ने सूरत में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा कि '2014 में हुए लोकसभा चुनाव में गुजरात ने सभी सीटों पर भारतीय जनता पार्टी को जीत दिलाई थी और 2019 में भी भाजपा ने ही सभी सीटों पर विजयी तिरंगा लहराया. जातिवाद, परिवारवाद, जाति आधारित राष्ट्रवाद अब चुनावों में खत्म हो चुका है. आज कांग्रेस पूरे देश में पतन के कगार पर आ गई है. बुआ ने भी बबुआ का साथ छोड़ दिया है.'

उन्होंने आगे कहा कि 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक मिनट भी आराम नहीं किया. 50 दिन के काम की रिपोर्ट तैयार की और यहां कांग्रेस के कप्तान तो जहाज से ही कूद गए. जब तक कांग्रेस में परिवारवाद नहीं खत्म होगा, वह आगे नहीं आएगी. हमारा लक्ष्य है कि हम हर राज्य में भाजपा की संख्या बढ़ाएंगे. घर-घर जाकर सदस्य बनाने के साथ एक बूथ पर एक दिन दिया जायेगा.'

देखें लाइव टीवी

'कांग्रेस के डूबते जहाज को छोड़ने वाले पहले शख्स हैं राहुल गांधी'- शिवराज सिंह चौहान

कर्नाटक की पूर्व कुमारस्वामी सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि 'भाजपा देश बनाने के लिए काम करती है. वहीं अन्य पार्टियां सत्ता के लिए काम करती हैं. कर्नाटक में कांग्रेस डूब चुकी है. कुमार स्वामी पहले दिन से रो रहे थे. कर्नाटक में फ्लोर टेस्ट में भाजपा पास होगी. कांग्रेस हर तरफ गन्दी राजनीति कर रही है. शुरू उन्होंने किया है, लेकिन इसे खत्म हम करेंगे.'

शिवराज सिंह ने कहा, 'हम मध्य प्रदेश में सरकार गिराने की वजह नहीं बनेंगे'

बता दें पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान हाल ही में जम्मू-कश्मीर भी पहुंचे थे. जहां उन्होंने कहा था कि 'कश्मीर के मुख्यधारा के राजनेता घाटी में सैनिकों की तैनाती और संविधान के आर्टिकल 35 A को निरस्त करने से जोड़ रहे हैं और अफवाह फैला रहे हैं. यह सामान्य प्रक्रिया है. इसमें और कुछ नहीं है, लेकिन स्थानीय नेताओं को कुछ मुद्दा चाहिए और इसीलिए वह इसे उठा रहे हैं.'