सीएम शिवराज का जनता के नाम संदेश- कोरोना के खिलाफ लड़ाई नहीं, ये युद्ध है; जानिए भाषण की अहम बातें

सीएम बोले- कोरोना से लड़ाई सामान्य लड़ाई नहीं, ये युद्ध है. जैसे युद्ध के समय सारा देश एक साथ आ जाता है, उसी तरह कोरोना के संकट में सरकार, समाज, आप, हम सभी को मिलकर लड़ना पड़ेगा. 

सीएम शिवराज का जनता के नाम संदेश- कोरोना के खिलाफ लड़ाई नहीं, ये युद्ध है; जानिए भाषण की अहम बातें

भोपालः मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि देश अभूतपूर्व संकट से गुजर रहा है. मैंने पहले भी लोगों को चेताया और सड़कों पर उतरकर लोगों को मास्क पहनाए और सोशल डिस्टेंसिंग बरतने की अपील की थी. कोरोना से लड़ाई सामान्य लड़ाई नहीं, ये युद्ध है. जैसे युद्ध के समय सारा देश एक साथ आ जाता है, उसी तरह कोरोना के संकट में सरकार, समाज, आप, हम सभी को मिलकर लड़ना पड़ेगा. तभी हम इस संकट से निपट पाएंगे.

जनता खुद लगाए जनता कर्फ्यू
सीएम शिवराज ने कहा कि संक्रमण की चेन को तोड़ना बेहद जरूरी है. हमारी सरकार व्यवस्था कर रही है लेकिन जिस तेजी से मरीज बढ़ रहे हैं, उससे सारी व्यवस्थाएं छोटी पड़ जाएंगी. इसलिए हमारा पहला संकल्प संक्रमण की बढ़ती रफ्तार को रोकना है. इसका उपाय है, हम 30 अप्रैल तक घर में रहें. लोगों को खुद जागरुक होना पड़ेगा. अगर हम खुद जनता कर्फ्यू लगा लिया तो हम संक्रमण की रफ्तार को रोक सकेंगे. अगर घर से बाहर जाना पड़ा तो सभी सावधानी बरतें. 

सरकार मुफ्त देगी मेडिसिन किट
अगर इसके बावजूद कोई भी लक्षण दिखें तो तत्काल टेस्ट कराइए और बिल्कुल भी लापरवाही ना बरतें. साथ ही टेस्ट करवाने के बाद खुद को क्वारंटाइन कर लीजिए. वरना आप रिपोर्ट मिलने तक कई लोगों को संक्रमित कर सकेंगे. साथ ही होम क्वारंटाइन के दौरान परिवार के लोगों से दूरी बरतें. साथ ही घर में मरीजों को दवाईयों की किट मुफ्त में दी जाएगी. टेली मेडिसिन के जरिए डॉक्टर मरीज को परामर्श दे सकेंगे. 

प्रदेश में 110 कोविड सेंटर्स शुरू किए गए
सीएम ने कहा कि अगर कोई मरीज होम क्वारंटाइन नहीं रह पाता है तो उनके लिए हर जिले में कोविड केयर सेंटर बनाए गए हैं, वो वहां भर्ती हो सकते हैं. सीएम ने कहा कि प्रदेश में 110 कोविड केयर सेंटर्स चल रहे हैं. साथ ही जरूरत पड़ने पर और कोविड केयर सेंटर्स बनाए जाएंगे. 

बिस्तरों की संख्या लगातार बढ़ाई जा रही
सीएम ने कहा कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए राज्य के अस्पतालों में बिस्तरों की संख्या लगातार बढ़ाई जा रही है. एक अप्रैल को जहां राज्य में 21,159 बिस्तर थे, उनकी संख्या आज बढ़कर 40,784 हो गई है. वहीं 30 अप्रैल तक इन्हें बढ़ाकर 50 हजार कर दिया जाएगा. 

निजी अस्पतालों को सरकारी भवन दे रहे हैं, ताकि वह कोविड सेंटर स्थापित कर सकें. सरकार के साथ ही स्वयंसेवी संस्थाएं भी आगे आकर मदद कर रही हैं. सीएम ने राधा स्वामी सत्संग व्यास द्वारा बनाए जा रहे कोविड केयर सेंटर की भी तारीफ की. 

ऑक्सीजन की आपूर्ति सामान्य हो रही है
सीएम शिवराज ने कहा कि उन्होंने ऑक्सीजन की आपूर्ति को लेकर केंद्र सरकार के बात की. ऑक्सीजन की आपूर्ति अब लगभग सामान्य हो रही है. 8 अप्रैल को ऑक्सीजन की आपूर्ति 130 मीट्रिक टन थी, जो 12 अप्रैल को 267 मीट्रिक टन और 14 अप्रैल को 280 मीट्रिक टन और 17 अप्रैल को बढ़कर 390 मीट्रिक टन हो गई. साथ ही 30 अप्रैल तक 700 मीट्रिक टन ऑक्सीजन हमें प्राप्त होगी.  

रेमडेसिविर इंजेक्शन की कमी पर ये बोले सीएम
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने संदेश में कहा कि एमपी में इस इंजेक्शन का उत्पादन नहीं होता और हमें ये बाहर से मंगाना पड़ता है. लेकिन हमने लगातार कोशिश की कि इंजेक्शन की आपूर्ति लगातार होती रहे. अभी आपूर्ति कम हैं लेकिन हम इसकी कमी को दूर करने के लिए कई कदम उठा रहे हैं और कंपनियों को ऑर्डर दिए जा रहे हैं. 

सीएम ने आखिर में कहा कि हम सभी को इस महामारी के खिलाफ एकजुट होना पड़ेगा. धार्मिक संस्थाएं, सामाजिक संगठन सभी मिलकर आगे आएं. जो लोग सरकार और प्रशासन की बतौर वालंटियर मदद करना चाहते हैं तो उनका स्वागत है. सीएम बोले की हमारी कोशिश रही है कि गरीब की रोजी-रोटी चलती रहे. सीएम ने कहा कि मुझे पूरा विश्वास है कोरोना हारेगा और हम जीतेंगे.