दमोहः मलैया को मिले नोटिस के बाद भाजपा संगठन हुआ दो फाड़, जिला महामंत्री ने जताई नाराजगी, खोले कई राज

शनिवार को दमोह से बीजेपी के जिला महामंत्री ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पार्टी नेतृत्व के फैसले से नाराजगी जाहिर की है 

दमोहः मलैया को मिले नोटिस के बाद भाजपा संगठन हुआ दो फाड़, जिला महामंत्री ने जताई नाराजगी, खोले कई राज
जयंत मलैया. (फाइल फोटो)

दमोह/महेंद्र दूबेः दमोह उपचुनाव में मिली हार के बाद अब भाजपा संगठन में टकराव बढ़ता दिखाई दे रहा है. दरअसल जयंत मलैया को पार्टी की तरफ से मिले कारण बताओ नोटिस और पांच मंडल अध्यक्षों को निलंबित किए जाने के बाद पार्टी संगठन दो फाड़ नजर आ रहा है. बता दें कि शनिवार को दमोह से बीजेपी के जिला महामंत्री ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पार्टी नेतृत्व के फैसले से नाराजगी जाहिर की है और राहुल लोधी को ही हार के लिए जिम्मेदार ठहरा दिया है.  

संगठन में टकराव के हालात
नेतृत्व के फैसले पर जहां जिला अध्यक्ष ने चुप्पी साध ली है. वहीं जिला महामंत्री रमन खत्री ने मोर्चा खोल दिया है. रमन खत्री ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कई राज खोले. खत्री ने कहा कि कांग्रेस छोड़कर भाजपा में आए राहुल लोधी को प्रत्याशी बनाए जाने को लेकर पार्टी ने पहले जितने भी सर्वे कराए थे. उन तमाम सर्वे में जनता ने राहुल लोधी को नकार दिया था. इसके बावजूद शीर्ष नेतृत्व ने राहुल लोधी को उम्मीदवार बनाया. जिस पर चुनाव में जनता ने उन्हें नकार दिया. 

शीर्ष नेतृत्व पर साधा निशाना
रमन खत्री ने पार्टी नेतृत्व को भी आड़े हाथों ले लिया. उन्होंने कहा कि जब चुनाव के वक्त पूरा पार्टी नेतृत्व दमोह में कैंप कर रहा था, उस वक्त नेतृत्व की नजरें कार्यकर्ताओं पर क्यों नहीं गई? भीतरघात के आरोपों पर दमोह बीजेपी जिला महामंत्री रमन खत्री ने कहा कि भीतरघात से हजार-पांच सौ वोट से चुनाव प्रभावित हो सकता है लेकिन 17 हजार वोटों से नहीं हारा जा सकता. 

निलंबन वापस लेने की मांग
रमन खत्री ने शीर्ष नेतृत्व से मांग की सभी मंडल अध्यक्षों के साथ सिद्धार्थ मलैया का निलंबन वापस लिया जाए और जयंत मलैया को भेजा गया कारण बताओ नोटिस भी वापस लिया जाए.  बता दें कि शुक्रवार को पार्टी ने बड़ा कदम उठाते हुए दमोह उपचुनाव में हार के बाद पार्टी के वरिष्ठ नेता जयंत मलैया को कारण बताओ नोटिस जारी किया था. साथ ही सिद्धार्थ मलैया समेत पांच मंडल अध्यक्षों को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया था. 

कांग्रेस विधायक अजय टंडन ने किया मलैया का समर्थन
वहीं इस पूरे मामले के बीच दमोह से जीत हासिल करने वाले कांग्रेस विधायक अजय टण्डन भी जयंत मलैया के समर्थन में आ गए हैं. अजय टंडन ने कहा कि हार की जिम्मेदारी सीएम शिवराज और प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा की है. अजय टंडन ने कहा कि हार का ठीकरा जयंत मलैया पर फोड़ा जा रहा है.