MP में 11,708 पॉजिटिव मरीज़ मिले, 20 दिन में घटे केस लेकिन कोरोना से ठीक होने वाले ज़्यादा नहीं!
topStorieshindi

MP में 11,708 पॉजिटिव मरीज़ मिले, 20 दिन में घटे केस लेकिन कोरोना से ठीक होने वाले ज़्यादा नहीं!

कोरोना मामलों को लेकर एक राहत वाली ख़बर मध्य प्रदेश से आई है. पिछले 24 घंटे में मध्यप्रदेश में कोराेना के 11 हजार 708 नए मरीज मिले हैं. हालांकि राहत की बात यह है कि 20 दिन में पहली बार संक्रमितों का आंकड़ा 12 हजार के नीचे पहुँच गया है. इससे पहले 16 अप्रैल को 11,269 केस मिले थे.

MP में 11,708 पॉजिटिव मरीज़ मिले, 20 दिन में घटे केस लेकिन कोरोना से ठीक होने वाले ज़्यादा नहीं!

मध्यप्रदेश: कोरोना मामलों को लेकर एक राहत वाली ख़बर मध्य प्रदेश से आई है. पिछले 24 घंटे में मध्यप्रदेश में कोराेना के 11 हजार 708 नए मरीज मिले हैं. हालांकि राहत की बात यह है कि 20 दिन में पहली बार संक्रमितों का आंकड़ा 12 हजार के नीचे पहुँच गया है. इससे पहले 16 अप्रैल को 11,269 केस मिले थे. वहीं दूसरी ओर चिंता इस बात की है कि स्वस्थ होने वालों का आंकड़ा भी घटा है. 10 दिन में पहली बार ठीक होने वालों की संख्या नए केसों से कम रही है. प्रदेश में 6 मई को 84 मरीजों की मौत भी हुई है. मौतों का आंकड़ा 6,244 हो गया है.कुल संक्रमितों का आंकड़ा 6 लाख 50 हजार के करीब पहुंच गया है. जबकि 5 लाख 47 हजार से ज्यादा स्वस्थ्य हुए हैं. 
24 घंटे में 4,815 मरीजों ने कोरोना को मात दी. इसमें से 79% होम आइसोलेट थे. यानी वे घर में ही रहकर इलाज करा रहे थे जबकि 5% कोविड केयर सेंटर में थे.16% अस्पतालों में भर्ती थे.

प्रदेश में 
एक्टिव केस 95 हजार 423 
63 हजार 871 होम आइसोलेशन  
रिकवरी रेट 84%  
जबकि 5 मई को यह 85% रहा. हालांकि 30 अप्रैल को रिकवरी रेट 83% रहा.

पॉजिटिविटी रेट हुआ 18%
प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट घट कर 18% हो गया है. स्वास्थ्य विभाग की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक 
इंदौर में 1,753
भोपाल में 1,576
ग्वालियर में 910
संक्रमित मिले हैं. 
सबसे ज्यादा ग्वालियर 8 मौतें 
इंदौर और जबलपुर में 6-6 मौतें 
भोपाल में 5 मरीजों मौत हुई.

ऑक्सीजन मिलने की संभावना
सरकार को 7 मई को 524 टन ऑक्सीजन मिलने की संभावना है. जबकि 6 मई को 515 टन ऑक्सीजन की आपूर्ति हुई थी. 
बता दें कि केंद्र सरकार ने मप्र के लिए 24 अप्रैल से 649 टन ऑक्सीजन का कोटा तय किया है. आज बोकारो और जामनगर से एयर लिफ्ट कर ऑक्सीजन टैंकर इंदौर भोपाल और ग्वालियर लाए जा रहे हैं. सरकार ने रेलवे से दो रैक राउरकेला से जबलपुर तक 6 टैंकर लाने की मांग की है.

ऑक्सीजन की मांग
राज्य सरकार ने केंद्र से पानीपत में स्थित एयर लिक्विड कंपनी से प्रतिदिन 20 टन ऑक्सीजन की आपूर्ति निर्धारित करने की मांग की है. यहां से मध्य प्रदेश के लिए 6 टन ऑक्सीजन प्रतिदिन का कोटा तय किया है. आईनॉक्स बोकारो से ऑक्सीजन सप्लाई का कोटा 33 टन से बढ़ाकर 133 टन करने की मांग भी की गई है. अब सरकार को उम्मीद है कि जल्द ही केंद्र सरकार उनकी मांगों पर विचार कर उन्हें जल्द पूर्ति के लिए अनुमति देगी.

ये भी पढ़ें: कोरोना पीक का समय: मई मध्य तक दूसरी लहर का पीक, जून अंत तक केस घटकर 20 हजार हो जाएंगे

WATCH LIVE TV

Trending news