MP में बेमौसम बारिश का कहर: अतिवृष्टि से खराब हुई फसलें, शिवराज सरकार ने किसानों को राहत देते हुए किया यह ऐलान
X

MP में बेमौसम बारिश का कहर: अतिवृष्टि से खराब हुई फसलें, शिवराज सरकार ने किसानों को राहत देते हुए किया यह ऐलान

कृषि मंत्री कमल पटेल ने ऐलान किया है कि प्रदेश में ओलावृष्टि और बारिश से हुए नुकसान का वीडियोग्राफी से आकलन कराया जाएगा और किसानों को मुआवजा मिलेगा.

MP में बेमौसम बारिश का कहर: अतिवृष्टि से खराब हुई फसलें, शिवराज सरकार ने किसानों को राहत देते हुए किया यह ऐलान

भोपाल: मध्यप्रदेश में शुक्रवार शाम होते-होते राज्य के अधिकांश जिलों में झमाझम बरिश हुई.  बारिश के कारण भोपाल के बड़े हिस्से में बिजली गुल रही. भोपाल, रायसेन, रीवा, श्योपुर समते दूसरे कई जिलों में जमकर ओलावृष्टि हुई. इससे खेतों में मौजूद फसलों को भारी नुकसान होना बताया गया है. किसानों को राहत देते हुए मध्यप्रदेश के कृषि मंत्री कमल पटेल ने ऐलान किया है कि प्रदेश में ओलावृष्टि और बारिश से हुए नुकसान का वीडियोग्राफी से आकलन कराया जाएगा और किसानों को मुआवजा मिलेगा.

ये किसानों की सरकार है- कमल पटेल
कृषि मंत्री कमल पटेल ने प्रदेश के कई जिलों में हुई ओलावृष्टि को लेकर जिला कलेक्टरों ओर जिला कृषि अधिकारियों को मौके पर जाकर फसल नुकसान का सर्वे करने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने कहा कि वीडियोग्राफी से फसल नुकसान का सर्वे किया जाए और पंचनामा तैयार किए जाएं, जिससे किसानों को समय पर मुआवजा मिल सके.  कृषि मंत्री कमल पटेल ने कहा कि 'किसानों का संकट सरकार का संकट है. ये किसानों की सरकार है.'

इन फसलों को हुआ नुकसान
 गेंहू, चना, मसूर की फसल को इस बारिश से नुकसान हुआ है.

कहां-कहां हुई बारिश
शुक्रवार को राज्य के कई जिलों में मूसलाधार और ओलावृष्टि हुई. भोपाल, सागर, रीवा, श्योपुर, इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर, खरगोन, छिंदवाड़ा और दमोह में बारिश और तेज आंधी चली.   

अगले दो दिनों तक होगी बारिश
मौसम विभाग के अनुसार, अगले 24 घंटे में प्रदेश के कई जिलों में गरज चमक के साथ हल्की बारिश या बूंदाबांदी हो सकती है. इसके अलावा ओले भी गिर सकते हैं. मौसम विभाग के अनुसार 13 और 16 मार्च से अगले दो पश्चिमी विक्षोभों के सक्रिय रहने की संभावना है. 

क्यों बदला मध्यप्रदेश का मौसम
मौसम वैज्ञानिकों की मानें तो पाकिस्तान और उसके आसपास एक पश्चिम विक्षोभ तैयार है. उसी के प्रभाव से मराठवाड़ा में एक ऊपरी हवा का चक्रवात बन गया है. इस चक्रवात का असर पश्चिम मध्यप्रदेश पर भी दिख रहा है. यही वजह है कि मध्यप्रदेश में शुक्रवार को तेज हवाओं के बाद जोरदार बारिश हुई और कई जिलों में ओलावृष्टि देखने को मिली. अभी अगले दो दिनों तक ग्वालियर, सागर, शहडोल, जबलपुर और रीवा संभाग के इलाकों में तेज बारिश की संभावना है.

19 मार्च को भी होगी बारिश
मौसम विभाग के अधिकारियों की मानें तो आज की बारिश ने कुछ लोगों को गर्मी से राहत दी है, जबकि किसानों की चिंता बढ़ा दी है. अगर आगे भी ऐसी ही बारिश होती है तो किसानों को काफी नुकसान होगा. शनिवार को मौसम साफ रहेगा. 19 मार्च के आसपास फिर एक बार बारिश हो सकती है. फिलहाल, अभी बादल छाए रहेंगे और गर्मी से राहत मिलेगी.

ये भी पढ़ें: CM शिवराज का बड़ा ऐलान, इन पंचायतों को मिलेगा 2 लाख रुपए का पुरस्कार

ये भी पढ़ें: मध्य प्रदेश मौसम: भोपाल समेत यहां हुई ओलावृष्टि से फसलें बर्बाद, इन इलाकों में तेज बारिश की संभावना, जानें

 

WATCH LIVE TV

Trending news