विशेष ट्रेन से करें पांच ज्योतिर्लिंग के दर्शन, कोरोना होने पर आइसोलेशन कोच में कर सकेंगे यात्रा, जानिए खासियत

भारतीय रेलवे 14 फरवरी से भारत दर्शन ट्रेन चलाने जा रहा है. यह ट्रेन राजकोट (Rajkot) से कन्याकुमारी (Kanyakumari) तक चलाई जाएगी. जिसमें आपका सफर 12 दिनों को रहेगा.

विशेष ट्रेन से करें पांच ज्योतिर्लिंग के दर्शन, कोरोना होने पर आइसोलेशन कोच में कर सकेंगे यात्रा, जानिए खासियत

रतलाम: कोरोना महामारी के बीच रेलवे फिर अपनी विशेष पर्यटन ट्रेनों का संचालन शुरू करने वाला है. दरअसल आईआरसीटीसी ने विशेष पर्यटन ट्रेनों का संचालन पूरे देश में शुरू कर दिया है. इसी क्रम में  गुजरात और मध्य प्रदेश के तीर्थ यात्रियों के लिए राजकोट से 5 ज्योतिर्लिंग सहित दक्षिण यात्रा के लिए पर्यटन ट्रेन का संचालन किया जा रहा है. यह ट्रेन रतलाम, उज्जैन, शुजालपुर, सीहोर, हबीबगंज, होशंगाबाद और इटारसी स्टेशनों से होते हुए दक्षिण के लिए रवाना होगी. साथ ही इस ट्रेन में कोविड नियमों का पालन किया जायेगा. 

मंत्री ओपीएस भदौरिया के बंगले के बाहर बदमाशों ने तड़तड़ाईं गोलियां, 3 गिरफ्तार, एक फरार

कोरोना हो जाए तो आइसोलेशन कोच में यात्रा
ट्रेन में सफर के दौरान कोरोना सिम्टम्स आने पर भी किसी की यात्रा नहीं रुकेगी. आईआरसीटीसी द्वारा शुरू की पिलग्रिम विशेष पर्यटन ट्रेन में आइसोलेशन कोच साथ चलेगा और कोरोना सिम्टम्स वाले व्यक्ति को इस कोच में आगे की यात्रा कारवाई जाएगी. यह पहली ट्रेन है जिसमें यात्रा के दौरान आइसोलेशन कोच साथ मे चलेगा. 

बता दें कि पूरे कोरोना काल मे आइसोलेशन कोच का कोई उपयोग नहीं हो पाया, लेकिन अब इस टूरिस्म ट्रेन में 1 आइसोलेशन कोच साथ रहेगा. जो किसी यात्री में कोरोना के सिम्टम्स दिखाई देने पर उसे आइसोलेशन कोच में शिफ्ट किया जाएगा. वहीं डॉक्टर की सलाह के बाद कोरोना मरीज की यात्रा भी चालू रहेगी और उसे इसी आइसोलेशन कोच में आगे की यात्रा करवाई जाएगी. वहीं कोरोना के सारे नियमो को देखते हुए सेनिटाइजर मास्क की व्यवस्था भी रहेगी.

5 ज्योतिर्लिंगों के होंगे दर्शन 
भारतीय रेलवे 14 फरवरी से भारत दर्शन ट्रेन चलाने जा रहा है. यह ट्रेन राजकोट (Rajkot) से कन्याकुमारी (Kanyakumari) तक चलाई जाएगी. जिसमें आपका सफर 12 दिनों को रहेगा. इन 12 दिनों के सफर में आपको पांच ज्योतिर्लिंगों के दर्शन करने का मौका मिलेगा. जिनमें कुर्नूल के मल्लिकार्जुन (Mallikarjun), नासिक के त्र्यंबकेश्वर (Trimbakeshwar), औरंगाबाद के घृष्णेश्वर, परली के बैजनाथ और रामेश्वर ज्योर्तिलिंग के दर्शन करने का लाभ मिलेगा. लेकिन कोरोना संक्रमण को देखते हुए इन पर्यटन ट्रेन में संख्या कम करते हुए अब सिर्फ 500 यात्रियों की जगह रहेगी.

Indian Railway Update: महू-प्रयागराज स्पेशल चलेगी सप्ताह में चार दिन, देखें शेड्यूल

दुर्घटना बीमा भी कराएगा रेलवे 
खास बात यह है ट्रेन के सभी यात्रियों का दुर्घटना बीमा भी कराया जाएगा. ट्रेन के लिए आप जो किराया देंगे उसी में से आपका बीमा होगा, जो 4 लाख रुपए तक का रहेगा. इसके लिए आपको से अलग से कुछ भी कराने की जरूरत नहीं रहेगी.