जयपुर: घर के पंखे से लटके मिले 1 ही परिवार के 4 लोग, मौत की गुत्थी सलझाने में जुटी पुलिस

पड़ोसियों व परिजनों ने बताया कि मृतक यशवंत सोनी के पास रोज कोई न कोई करना मांगने वाले आते थे. शुक्रवार को भी एक महिला कुछ लोगो के साथ आई थी और यशवंत सोनी से लड़ाई करके गई थी.

जयपुर: घर के पंखे से लटके मिले 1 ही परिवार के 4 लोग, मौत की गुत्थी सलझाने में जुटी पुलिस
मकान के सारे दरवाजे अंदर से पूरी तरह बन्द थे.

अमित यादव/बस्सी: राजस्थान की राजधानी जयपुर के कानोता थाना इलाके के राधिका विहार में शनिवार की सुबह एक ही परिवार के चार सदस्यों द्वारा सामूहिक आत्महत्या (Suicide) करने का सनसनीखेज मामला सामने आया है. यह परिवार ज्वेलरी के बिजनेस से जुड़ा था और पिछले कुछ समय से कर्ज से परेशान था.

जानकारी के अनुसार, शनिवार सुबह करीब 8:30 बजे तक भी दरवाजा नहीं खोलने पर कॉलोनी निवासी व आस पड़ोसियों ने छत पर जाकर दरवाजा तोड़कर अंदर झांका तो व्यापारी के परिजन पंखों के लटके दिखे. इसके बाद पड़ोसियों ने तत्काल कंट्रोल रूम को सूचना दी.

सूचना पर कानोता व बस्सी थाना पुलिस, बस्सी एसीपी सुरेश सांखला, एडिश्नल डीसीपी मनोज चौधरी मौके पार पहुंचे और घटनास्थल का जायजा लिया. एक हॉल के अंदर पिता व दोनों पुत्र अलग-अलग पंखे पर लटके हुए थे और व्यापारी की पत्नी अलग कमरे में पंखे पर लटकी हुई थी. पुलिस ने एफएसएल टीम को सूचना दी. सूचना पर एफएसएल टीम पर मौके पर पहुंची और घटनास्थल से साक्ष्य जुटाए. पुलिस ने चारों शवों को जेएनयू अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया है.

मृतकों की हुई पहचान  
मृतकों में यशवंत सोनी उम्र 45 साल, ममता सोनी उम्र 41 साल, अजित सोनी उम्र 23 साल, भारत सोनी उम्र 20 साल है. मृतक व्यापारी का परिवार मूलतः अलवर का रहने वाला था और पिछले पांच साल से राधिका विहार थाना कानोता जयपुर में ही रह रहा था. व्यापारी जयपुर जोहरी बाजार में ज्वैलरी का व्यापार करता था. मृतक व्यापारी परिवार पर कर्ज की बात सामने आ रही. पड़ोसियों व परिजनों ने बताया कि मृतक यशवंत सोनी के पास रोज कोई न कोई करना मांगने वाले आते थे. शुक्रवार को भी एक महिला कुछ लोगो के साथ आई थी और यशवंत सोनी से लड़ाई करके गई थी.

यशवंत सोनी ने उस महिला को दिलासा दिलाया था कि वह मकान व दुकान बेच कर कर्जा चुका देगा. शनिवार सुबह भी पांच लोग आए थे, जिनको पड़ोसियों ने पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया. मृतक का छोटा बेटा भारत सोनी दो दिन पूर्व नीट (NEET) की परीक्षा दिया था और बड़े वाला बेटा किसी खेल में गोल्ड मेडल (Gold Medal) होने की बात सामने आई. मृतक के परिजनों ने मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाने की मांग रखी है. साथ ही मृतक व्यापारी के परिजनों ने मृतकों के शवों के पोस्टमार्टम मेडिकल बोर्ड से करवाने की मांग की है.

वहीं, एडिशनल डीसीपी मनोज चौधरी ने बताया कि प्रथम दृष्टया पूरा मामला आत्महत्या का लग रहा है और मकान के सारे दरवाजे अंदर से पूरी तरह बन्द थे. लेकिन प्रत्येक एंगल से मामले की जांच में जुटी हुई है. एडिशनल डीसीपी ने बताया की कुछ लोगों को कस्टडी में लेकर पूछताछ की जा रही है.