कोटा में 5 पाक विस्थापितों को 25 साल मिली भारत की नागरिकता

कोटा में करीब ढाई दशक से निवास कर रहे पांच और पाक विस्थापितों को शुक्रवार को भारतीय नागरिकता का तोहफा मिला. 

कोटा में 5 पाक विस्थापितों को 25 साल मिली भारत की नागरिकता
यो लोग विस्थापित पाकिस्तान के सिन्ध प्रांत से भागकर भारत आये थे.

कोटा: आख़िरकार पाकिस्तान से तौबा हो ही गई पाकिस्तान से मुक्ति मिल ही गई कोटा में पांच पाकिस्तानी नागरिको को मिली है. भारतीय नागरिकता सालों का इन्तजार पूरा हुआ है और ये दिन इनके लिए इनके जीवन का सबसे खास भी बन गया. 

25 साल का रहा ये इंतजार
कोटा में करीब ढाई दशक से निवास कर रहे पांच और पाक विस्थापितों को शुक्रवार को भारतीय नागरिकता का तोहफा मिला. प्रदेश सरकार के गृह मंत्रालय की तरफ से कोटा जिला प्रशासन कोटा से फॉरवर्ड होकर आयी नागरिकता फाइल के कुल 8 पेण्डिंग मामलों में से पांच का निपटारा करते हुए इन्हें नागरिकता प्रमाणपत्र जारी करने पर मुहर लगा दी गयी. 

कोटा जिला कलेक्टर ओमप्रकाश कसेरा के कक्ष में प्रमाणपत्र सुपुर्दगी से पहले की जरुरी औपचारिकताएं पूरी की गयी. इसके बाद कलेक्टर ने सभी को बधाई देते हुए अपने कक्ष में बुलाकर मालाएं पहनायी और बाद में प्रमाणपत्र सौंपे।

नागरिकता प्राप्त करने वाले अधिकतर विस्थापित पाकिस्तान के सिन्ध प्रांत से भागकर भारत आये थे. वह सन् 2000 और उससे कुछ पहले से यहां लगातार निवास कर रहे थे. आपको बता दें कि कुछ दिनों पहले ही कोटा जिला प्रशासन की तरफ से भी 8 पाक विस्थापितों को भारतीय नागरिकता दी गयी थी.

खुशियां लेकर आया यह दिन
निश्चित ही यह बड़ा दिन इनके जीवन के लिए ढेर सारी खुशियां वेकर आया है. वहीं, नागरिकता पाने वालों का कहना है कि जिस जुल्म को हमने सहा है उसको हम कभी याद भी नहीं करना चाहते है. यह लोग अपने बुरे दिनों को बुरे सपने की तरह सोचकर भूलना चाहते हैं. बहरहाल, अब ये खुश हैं क्योंकि इनके हाथो में भारतीय होने का प्रमाणपत्र है इस जमी की नागरिकता इनके पास है जो इन लोगों के लिए बेहद खुशी की बात है.