close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

उदयपुर में एक सनकी रोज काट रहा पेड़, परेशान नगर परिषद ने की शख्स पर ईनाम की घोषणा

डूंगरपुर नगर परिषद ने पिछले साल पहले अभियान चलाकर गेपसागर रिंग रोड पर पौधरोपण करते हुए सड़क के दोनों ओर सैंकड़ो पेड़ लगाए थे. 

उदयपुर में एक सनकी रोज काट रहा पेड़, परेशान नगर परिषद ने की शख्स पर ईनाम की घोषणा
पिछले दिनों में यह व्यक्ति एक दर्जन से अधिक पेड़ो को तोड़ चुका है.

अखिलेश शर्मा/डूंगरपुर: उदयपुर के डूंगरपुर शहर में इन दिनों एक सीरियल किलर चर्चा का विषय बना हुआ है. यह सीरियल किलर इंसान नहीं बल्कि पेड़ो का खून करता है. यह किलर रोज रात को अंधेरे में एक पेड़ का खून करता है, जिससे इन पेड़ों को पालने वाली नगर परिषद परेशान है. लेकिन परेशान नगरपरिषद ने अब पेड़ो के कातिल को पकड़वाने के लिए ईनाम की घोषणा की है.

सीरियल किलर का नाम सुनते ही इंसान के दिमाग मे एक ही ख्याल आता है कि कोई हैवान लोगो की बिना वजह जान लेता है. मामला यहां भी जान लेने का ही है लेकिन यह सीरियल किलर इंसान नहीं पेड़ो की जान लेता है. पिछले कुछ दिनों से डूंगरपुर शहर के गेपसागर रिंग रोड पर रोज रात को कोई अनजान व्यक्ति एक बड़े पेड़ को तोड़ जाता है. पिछले दिनों में यह व्यक्ति एक दर्जन से अधिक पेड़ो को तोड़ चुका है.

दरअसल डूंगरपुर नगर परिषद ने पिछले साल पहले अभियान चलाकर गेपसागर रिंग रोड पर पौधरोपण करते हुए सड़क के दोनों ओर सैंकड़ो पेड़ लगाए थे. साथ ही इन पेड़ों के रख रखाव ओर पानी पिलाने के लिए चौकीदार भी रखे थे. लेकिन किसी सनकी की इस हरकत ने नगर परिषद को परेशानी में डाल दिया है. पेड़ो का सीरियल किलर रोजाना रात के अंधेरे में एक पेड़ तोड़ कर नगर परिषद की मेहनत पर पानी फेर रहा है.

वहीं, कई कोशिशों के बावजूद इस सनकी ओर पेड़ो के सीरियल किलर को पकड़ने में नाकाम रही नगर परिषद ने अब इस 5 हजार का इनाम घोषित किया है. सभापति केके गुप्ता ने कहा है कि पेड़ तोड़ने वाले व्यक्ति की सूचना देने पर परिषद 5 हजार का इनाम देते हुए उसका नाम भी गुप्त रखेगी वही बदमाश के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

बहराल डूंगरपुर नगर परिषद ने गेप सागर झील के रिंग रोड पर पेड़ो की जान का दुश्मन बने उस व्यक्ति को पकड़ने के लिए ईनाम की घोषणा तो कर दी है लेकिन अब देखना होगा की इस ईनामी स्कीम के तहत डूंगरपुर में पेड़ो का कातिल कब तक पकड़ में आता है.