जालोर: रिश्वत लेते पकड़ा गया बैंक मैनेजर, किसान को नोड्यू देने के एवज में की थी मांग

बैंक मैनेजर ने किसान से ऋण माफी एवं रहन मुक्ति प्रमाण पत्र देने के एवज में 5 हजार की रिश्वत की मांग की थी. 

जालोर: रिश्वत लेते पकड़ा गया बैंक मैनेजर, किसान को नोड्यू देने के एवज में की थी मांग
ऋण माफी एवं रहन मुक्ति प्रमाण पत्र के बदले मैनेजर ने रिश्वत मांगी थी.

बबलू मीणा, जालोर: जालोर एसीबी (Jalore ACB) ने बुधवार को शहर के भूमि विकास बैंक में कार्रवाई की. बैंक मैनेजर ने किसान से ऋण माफी एवं रहन मुक्ति प्रमाण पत्र देने के एवज में 5 हजार की रिश्वत की मांग की थी. परिवादी की ओर से दी गई सूचना के आधार पर जालोर एसीबी (Jalore ACB) की टीम ने बड़ी कार्रवाई को अंजाम देते हुए आज भीनमाल में बैंक मैनेजर को रंगे हाथों गिरफ़्तार किया.

एसीबी डीएसपी अनराज पुरोहित ने बताया कि पूनासा निवासी परिवादी नारायण उर्फ नारणा के कृषि भूमि ने भूमि विकास बैंक से 18 हजार का ऋण लिया था. इस ऋण का कुल बकाया 2019-20 में ब्याज सहित 50 हजार 443 हुआ. किसान का उक्त ऋण राज्य सरकार की राजस्थान कृषक ऋण माफी योजना के तहत माफ हुआ. भूमि विकास बैंक के मैनेजर मुकेश कुमार मीणा ने किसान से ऋण माफी एवं रहन मुक्ति प्रमाण पत्र देने की एवज में 10 हजार की मांग की.

एसीबी में शिकायत के बाद 11 नवंबर को जालोर टीम ने सत्यापन किया. इसके बाद बुधवार को सुबह एसीबी टीम ने बैंक में कार्रवाई कर बैंक मैनेजर को 5 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया. कार्रवाई के दौरान मोहम्मद हनीफ, अवतारसिंह, भवानी सिंह, मोहनलाल, सुखाराम, ठाकराराम, कालूराम व रणवीर मनावत मौजूद रहे.