सीकर: बार काउंसलिंग सदस्यों और पक्षकारों ने CAA बिल के समर्थन में चलाया हस्ताक्षर अभियान

श्रीमाधोपुर कस्बे के कोर्ट परिसर में गुरुवार को बार संघ के सदस्यों ने केंद्र सरकार द्वारा जारी किए गए नागरिकता संशोधन बिल का समर्थन में हस्ताक्षर अभियान चलाया.

सीकर: बार काउंसलिंग सदस्यों और पक्षकारों ने CAA बिल के समर्थन में चलाया हस्ताक्षर अभियान
गृहमंत्री अमित शाह

सीकर: देशभर में कई जगह नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ प्रदर्शन किए जा रहे हैं. तो वहीं सीकर जिले के श्रीमाधोपुर कस्बे के कोर्ट परिसर में गुरुवार को बार संघ के सदस्यों ने नागरिकता संशोधन बिल के समर्थन में हस्ताक्षर अभियान चलाया. जिसके तहत बार काउंसलिंग के सदस्यों ने दीपक भाटिया के नेतृत्व में कोर्ट परिसर में CAA बिल का समर्थन करते हुए नागरिकता संशोधन अभियान को देश हित में बताया.

इस दौरान बार काउंसलिंग सदस्यों एवं न्यायालय परिसर में आए हुए पक्षकारों ने हस्ताक्षर कर केंद्र सरकार द्वारा जारी किए गए बिल का समर्थन किया. वहीं बार काउंसलिंग सदस्यों ने कहा कि आज देश में जिस तरीके से केंद्र सरकार द्वारा जारी किए गए बिल का विरोध किया जा रहा है, वह गलत है और उनकी बातों को तथ्यहीन बताया. 

वहीं सदस्यों ने भारत माता की जय कारों के साथ बताया कि यह बिल बांग्लादेश, अफगानिस्तान और पाकिस्तान में रह रहे ऐसे लोगों के लिए है जिनको वहां प्रताड़ित किया जा रहा है. वहां के अल्पसंख्यक वर्ग के लोगों को भारत में नागरिकता प्रदान की जाएगी. हस्ताक्षर अभियान के माध्यम से केंद्र सरकार के बिल की सराहना कर उन तक बात पहुंचाने का आव्हान किया.

गौरतबल है कि नागरिकता कानून (Citizenship Amendment Act- CAA) के विरोध में प्रदर्शन और बंद की सियासत में विपक्षी पार्टियां खुलकर उतर आई हैं. नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ आज विपक्षी पार्टियां देशभर में प्रदर्शन कर रही हैं. इन पार्टियों को कई यूनिवर्सिटीज़ का समर्थन भी मिला है. मुंबई में कांग्रेस-NCP के प्रदर्शन में शिवसेना ने शामिल होने से इनकार कर दिया है वहीं बिहार में लेफ्ट के प्रदर्शन से लालू यादव की पार्टी RJD ने दूरी बना ली है.

देशभर में प्रदर्शनों को देखते हुए दिल्ली से मुंबई-बैंगलुरू तक पुलिस को अलर्ट रहने के निर्देश दिए गए हैं. पूरे यूपी में पहले से ही धारा 144 लागू कर दी गई है. डीजीपी ने छात्रों के मां-बाप से अपील की है कि अपने बच्चों को प्रदर्शन में नहीं जाने दें.