close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सवाई माधोपुर: रणथंभौर के वीरू की मौत के बाद अंतिम संस्कार, पशुप्रेमियों को लगा गहरा आघात

रणथंभौर(Ranthambore) का वीरू नामक बाघ (टी 109) के शव का शुक्रवार को अंतिम संस्कार किया गया.

सवाई माधोपुर: रणथंभौर के वीरू की मौत के बाद अंतिम संस्कार, पशुप्रेमियों को लगा गहरा आघात
प्रतीकात्मक तस्वीर

सवाई माधोपुर: रणथंभौर नेशनल पार्क (Ranthambore National Park) के वीरू नामक बाघ (टी 109) के शव का शुक्रवार को अंतिम संस्कार किया गया. वन विभाग(Forest Department) ने आमा घांटी वन क्षेत्र में फारेस्ट चौकी के पास वीरू का अंतिम संस्कार किया. अंतिम संस्कार से पहले वीरू के शव का पशु चिकित्सकों ने पोस्टमार्टम किया. आपको बता दें कि टाईगर टी 109 वीरू की गुरुवार शाम मौत हो गई थी. 

दरअसल सात दिन पूर्व सीमा क्षेत्र को लेकर टाईगर टी 42 से वीरू का संघर्ष हो गया था. टी 42 से हुए संघर्ष में वीरू गंभीर रूप से घायल हो गया था. जिसके बाद वन विभाग ने वीरू को ट्रंकुलाइज किया और पशु चिकित्सकों लगातार वीरू का उपचार कर रहे थे. लेकिन वीरू के शरीर पर लगे 35 से अधिक घावों में कीड़े पड़ने और मवाद पड़ने व खून अधिक निकलने की वजह से वीरू की हालत गिरती जा रही थी. चिकित्सकों के प्रयास के बावजूद वीरू की हालत में सुधार नहीं हुआ. इस दौरान उपचार के क्रम में कल शाम वीरू ने दम तोड़ दिया.

वीरू की अकाल दुखद मौत की लेकर वन विभाग के अधिकारियों कर्मचारियों सहित वन्यजीव प्रेमियों को गहरा आघात लगा है. बता दें, वीरू अभी महज तीन साल का युवा टाईगर था. वीरू अपनी मां लाडली से अलग होने के बाद अपनी आजाद टैरेटरी बनाने का प्रयास कर रहा था.

राजस्थान की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें