कोटा: अपनी ही पार्टी को बांटने में लगे BJP विधायक, अटकी पड़ी है ज़िला अध्यक्ष की घोषणा

यहां के विधायक और पूर्व विधायक अपने अलग-अलग तरीक़ों से अलग-अलग विरोध प्रदर्शन के ज़रिए दमख़म दिखाने की कोशिश कर रहे हैं यानी की अपने आपको मज़बूत साबित करने की कोशिश कर रहे हैं. 

कोटा: अपनी ही पार्टी को बांटने में लगे BJP विधायक, अटकी पड़ी है ज़िला अध्यक्ष की घोषणा
प्रतीकात्मक तस्वीर.

कोटा: जिले में भाजपा (BJP) ज़िला अध्यक्ष की घोषणा रुकी हुई है. वजह यहां भाजपा (BJP) अलग अलग खेमों में बंट गई है. ऐसे में यहां के विधायक और पूर्व विधायक अपने अलग-अलग तरीक़ों से अलग-अलग विरोध प्रदर्शन के ज़रिए दमख़म दिखाने की कोशिश कर रहे हैं यानी की अपने आपको मज़बूत साबित करने की कोशिश कर रहे हैं. 

कोटा में विधायक और पूर्व विधायक अलग-अलग राह पर चलकर अपनी ही पार्टी को बांटने में जुटे हैं. मुद्दा एक लेकिन विरोध अनेक, जैसा हिसाब सब भाजपा (BJP) के जनप्रतिनिधियो ने कोटा में कर दिया है. फिर चाहे बात भाजपा (BJP) के कोटा दक्षिण से विधायक संदीप शर्मा हो या पूर्व विधायक भवानी सिंह राजावत. अब आगे विरोध की तैयारी में जुटे हैं. 

पूर्व विधायक प्रहलाद गुंजल सभी कोटा में बिजली व्यवस्था पर सवाल उठा रहे हैं. अलग-अलग मंच पर बीते एक हफ्ते में 3 भाजपा (BJP) के विधायक और पूर्व विधायक अलग-अलग विरोध प्रदर्शन कर चुके हे और एक तैयारी में हैं. ऐसे में भाजपा (BJP) का फिर कोटा में बंटा होना स्पष्ट नज़र आता है. शहर से लेकर पार्टी आलाकमान तक ये गुटबाजी मुसीबत पैदा किये हुए है और इसी की वजह है कि ज्यादातर जगह भाजपा (BJP) के जिला अध्यक्ष की घोषणा हुई लेकिन कोटा के लिए ये घोषणा अटकी हुई है.