बिटकॉइन में निवेश के नाम पर ठगी करने वाले 'बंटी-बबली' गिरफ्तार, भागने वाले थे विदेश

राजस्थान पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) ने बिटकॉइन में निवेश के नाम पर करोड़ों रुपये की ठगी करने के मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया है. 

बिटकॉइन में निवेश के नाम पर ठगी करने वाले 'बंटी-बबली' गिरफ्तार, भागने वाले थे विदेश
मनोज पटेल की कंपनी बिटकॉइन में बड़े स्तर पर काम करती थी.

जयपुर: बिटकॉइन (Bitcoin) में निवेश के नाम पर करोड़ों की ठगी करने के मामले में महिला सहित दो लोग गिरफ्तार हुए हैं. दोनों गिरफ्तार ठग विदेश भागने की फिराक में थे. 

ADG एटीएस और एसओजी अनिल पालीवाल ने बताया कि परिवादी ने एसओजी में बिटकॉइन में निवेश के नाम पर ठगी करने के सबंध में मुकदमा दर्ज करवाया था. जांच से यह पाया गया कि मनोज पटेल नाम के व्यक्ति और अविका नाम की महिला के साथ संगठित गिरोह ने MLMI.MAX Capital नामक कंपनी चलाते थे, जिसकी एक वेबसाइट भी है. इसके माध्यम से बिटकॉइन ट्रेडिंग में FOREX TRADING, CRYPTO TRADING, ARBITAG PLATEFORM में निवेश के नाम पर कई लोगों से बड़ी मात्रा में धनराशि ठगी है.

राजस्थान पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) ने बिटकॉइन में निवेश के नाम पर करोड़ों रुपये की ठगी करने के मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार मनोज पटेल और अविका मिश्रा पर राज्य में 10 से 15 करोड़ रुपये की ठगी के आरोप हैं. 

क्या कहना है पुलिस का
अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक एसओजी अनिल पालीवाल के अनुसार, इस गिरोह द्वारा बिटकॉइन ट्रेडिंग के नाम पर राज्य में 10 से 15 करोड़ रुपये की ठगी करने का मामला सामने आया है. बाहरी राज्यों से भी ऐसे मामले सामने आ सकते हैं. पुलिस ने इस संबंध में जगतपुरा में रह रहे मनोज कुमार और अविका को गिरफ्तार किया है. पूछताछ में पता चला कि मनोज और अविका विदेश भागने की तैयारी में थे कि इसी बीच एसओजी के हत्थे चढ़ गए. मनोज के खिलाफ राजस्थान में ठगी के करीब 24 मामले दर्ज हैं. मामले में आगे पूछताछ की जा रही है. 

बड़े लेवल पर काम करती थी मनोज पटेल की कंपनी
जांच के दौरान यह ज्ञात हुआ है कि मनोज पटेल की कंपनी बिटकॉइन में बड़े स्तर पर काम करती थी. ये कंपनी इंवेस्टमेंट पर 01 प्रतिशत का रिटर्न प्रतिदिन देने का झांसा देकर बड़े-बड़े सेमिनार आयोजित करती थी लोगों को प्रभावित कर निवेश करवाकर ठगी की वारदात को अंजाम देती थी.

पूछताछ में पता चला कि मनोज पटेल और अविका मिश्रा विदेश भागने की तैयारी कर रहे थे. इसी बीच एसओजी के हत्थे चढ़ गये. मनोज के खिलाफ राजस्थान में करीब दो दर्जन ठगी के प्रकरण दर्ज हैं. मुलजिमान से विस्तृत पूछताछ जारी है.