अलवर: मौत के बाद भी डॉक्टर ने किया दूसरे हॉस्पिटल में रेफर

अलवर जिले के बानसूर के एक निजी अस्पताल में प्रसूता की मौत के बाद परिजनों ने हंगामा कर दिया.

अलवर: मौत के बाद भी डॉक्टर ने किया दूसरे हॉस्पिटल में रेफर
प्रसूता की मौत के बाद परिजनों ने हंगामा कर दिया.

अलवर: जिले के बानसूर के एक निजी अस्पताल में प्रसूता की मौत के बाद परिजनों ने हंगामा कर दिया. दरअसल मामला बानसूर का है, जहां एक निजी अस्पताल में गांव मंडली के कुछ लोग एक महिला की डिलीवरी के लिए आए थे. डिलीवरी के बाद महिला की मौत हो गई. गुस्साए परिजनों ने अस्पताल परिसर में हंगामा कर दिया.

हंगामे की सूचना पर बानसूर पुलिस मौके पर पहुंची और मामला शांत करवाया. परिजनों का आरोप है कि सुबह करीब 7:00 बजे प्रसूता को ऑपरेशन से एक बच्ची पैदा हुई, जिसके बाद उसे वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया. वार्ड में शिफ्ट करने के बाद अचानक उसकी तबियत बिगड़ने लगी और प्रसूता की मौत हो गई.

परिजनों का आरोप है कि प्रसूता की मौत के बाद भी डॉक्टरों ने उसे कोटपूतली के रेफर कर दिया. कोटपूतली में उन्होंने सरकारी अस्पताल की जगह निजी अस्पताल में जाने के लिए कहा. वहां पहुंचने के बाद डॉक्टरों ने प्रसूता को मृत घोषित कर दिया.

वहीं प्रसूता का मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम कराया गया. बानसूर थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है. पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. परिजन कंवर सिंह का आरोप है कि अस्पताल प्रशासन की लापरवाही से प्रसूता की मौत हुई है.

वहीं प्रसूता ने सुबह एक बच्ची को ऑपरेशन से जन्म दिया और उसे जनरल वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया. वहां से उसकी तबीयत बिगड़ने पर आईसीयू में शिफ्ट किया गया, लेकिन डॉक्टरों ने उसकी संभालने की जगह और उसे कोटपूतली के लिए एक निजी अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया.