जयपुर व्यापार महासंघ बढ़ाएगा अपना दायरा, एजीएम में तय होंगे अहम प्रस्ताव

बैठक में जयपुर के तमाम व्यापार मंडलों के सामने आ रही मूलभूत समस्याओं के समाधान की प्रक्रिया तय होगी. कारोबारी इस वक्त खरीददारों को बाजार में आने के लिए प्रोत्सहित कर रहे है.

जयपुर व्यापार महासंघ बढ़ाएगा अपना दायरा, एजीएम में तय होंगे अहम प्रस्ताव
जयपुर व्यापार महासंघ की आम सभा 24 दिसंबर को होने जा रही है.

जयपुर: अर्थव्यस्था के साथ व्यापारियों की चुनौती प्रशासनिक अमला भी है. गंदगी, अतिक्रमण, अवैध पॉर्किंग, स्मार्ट सिटी का धीमा कामकाज, खरीदारों के लिए बाजारों में सुविधाएं समेत कई मसलों पर जयपुर व्यापार महासंघ सक्रियता बढ़ाता. मंगलवार 24 दिसंबर को चेंबर भवन में महासंघ की एजीएम होगी, इस बैठक में कई अहम प्रस्ताव पास होंगे.

महासंघ में शामिल होंगे नए व्यापार मंडल
जयपुर व्यापार महासंघ की आम सभा 24 दिसंबर को होने जा रही है. बैठक में जयपुर के तमाम व्यापार मंडलों के सामने आ रही मूलभूत समस्याओं के समाधान की प्रक्रिया तय होगी. कारोबारी इस वक्त खरीददारों को बाजार में आने के लिए प्रोत्सहित कर रहे है. इसमें पॉर्किंग, व्हीकल, शौचालय, साफ सफाई समेत बाजारों में अतिक्रमण, निगम और जेडीए की ओर से सुविधाओं में ढिलाई, आवारा पशुओं की अधिकता समेत कई मुद्दों पर प्रभावी समाधान चाहते है.

जयपुर व्यापार महासंघ के अध्यक्ष सुभाष गोयल ने बताया कि एजीएम में कई बड़े फैसले होने जा रहा है. बैठक में सबसे अहम फैसला महासंघ के नियमों पर खरा उतरने वाले कुछ व्यापार मंडलों को सदस्यता देने का भी है. महासंघ के महामंत्री सुरेंद्र बज का कहना हैं कि कई मुद्दों पर व्यापारी लंबे समय से संबंधित विभागों को ज्ञापन दे रहे है. 

अब बाहरी बाजारों की भी समस्याओं का समाधान
जयपुर व्यापार महासंघ के उपाध्यक्ष नीरज लुहाड़िया का कहना है कि रामनिवास बाग पॉर्किंग से शटल सेवा शुरू करना, साफ सफाई करना, व्यापारियों के लिए स्थायी पॉर्किंग शुल्क कम करवाने का काम किया है. आगे भी मांग उठाते रहेंगे. एजीएम में कई मुद्दे शामिल है. इस बैठक में अन्य बाजारों को शामिल होने से महासंघ का दायरा भी बढ़ेगा. जयपुर व्यापार महासंघ अभी तक प्रमुख रुप से चारदीवारी के बाजारों की मांग उठाता रहा है. अब अन्य व्यापार मंडलों को सदस्यता देने से इसका दायरा शहर के विस्तार के साथ बढ़ रहे बाजारों तक भी पहुंचेगा. 

कोशिश बाजार आए खरीदार
व्यापार इस समय आर्थिक मंदी की चपेट में हैं, ऐसे में कारोबारियों का कहना है कि बाजारों में ग्राहक सुविधाओं में इजाफा करना होगा. ऑनलाइन मॉर्केंट के दौर में जहां घर बैठे सामान उपलब्ध है. वहां बाजारों में ग्राहकों को बुलाने के लिए सुविधाओं का होना आवश्यक है. जयपुर व्यापार महासंघ की एजीएम में व्यपारी जिन मुद्दों पर मुहर लगाएगें उन सभी अगले दिन से ही काम शुरू होगा.