जयपुर: शादियों की परमिशन के लिये कलक्ट्रेट में उमड़ रही भीड़, घंटो में आया नंबर

कोरोना काल में आगामी दिनों में आने वाली देवउठनी एकादशी के अबूझ सावे पर होने वाली शादियों के लिये इन दिनों कलक्ट्रेट, और एसडीएम दफ्तरों में परमिशन लेने के लिये लोगों की भीड़ उमड़ रही है.

जयपुर: शादियों की परमिशन के लिये कलक्ट्रेट में उमड़ रही भीड़, घंटो में आया नंबर
शादी समारोह में 100 मेहमान ही हो सकते शामिल.

जयपुर: कोरोना काल (Coronavirus) में आगामी दिनों में आने वाली देवउठनी एकादशी के अबूझ सावे पर होने वाली शादियों के लिये इन दिनों कलक्ट्रेट, और एसडीएम दफ्तरों में परमिशन लेने के लिये लोगों की भीड़ उमड़ रही है. कोई खुद की शादी की अनुमति लेने एसडीएम दफ्तर पहुंच रहा है तो कोई अपने रिश्तेदारों की शादी की अनुमति के लिए लंबी लाइनों में लगा हुआ है.

कोरोना संक्रमित मरीज मिलने के बाद शादियों पर रोक लगने की आशंका को देखते हुए एसडीएम कार्यालय में आवेदकों की भीड़ उमड़ पड़ी. अनुमति के लिए शहर के अलावा ग्रामीण क्षेत्रों से वर-वधू दोनों ही पक्ष के लोग कार्यालय पहुंच गए. दरअसल विवाह के लिए दो माह में 7 सावे ही हैं. इसके बाद शुभ कार्यों पर रोक लग जाएगी.

कोरोना गाइडलाइन के तहत शादियों की सूचना जिला प्रशासन को देना जरुरी है. वहीं, शादियों में 100 लोगों से ज्यादा शामिल नहीं होने की पाबंदी के चलते लोग ऊहपोह की स्थिति में है. लंबे समय से कोरोना के कारण लोग शादियों को टाल रहे थे, लेकिन अब ये मौका वो गवाना नहीं चाहते. इसलिये बड़ी संख्या में लोग परमिशन के लिये जिला प्रशासन के पास पहुंच रहे हैं.

आलम यह रहा कि जिले में पॉजिटिव केस मिलने के बाद लोग फिजिकल डिस्टेंसिंग को दरकिनार कर बिना मॉस्क के भीड़ में खड़े नजर आए. भीड़ देखने के बाद प्रशासनिक अफसरों को बाहर निकलकर लोगों को समझा कर भीड़ को नियंत्रित करना पड़ा.

ये भी पढ़ें: राजस्थान में शुरू हुई कड़ाके की सर्दी, रात का तापमान 10 डिग्री से भी नीचे आया