मारवाड़ जनाना हॉस्पिटल पर आयकर विभाग की कार्रवाई, भामाशाह योजना में गड़बड़ी की आशंका

टीम में शामिल आयकर विभाग के अधिकारी पुलिस जवानों के साथ उतरे और सीधे हॉस्पीटल के अंदर पहुंचकर सभी दरवाजों को बंद कर ताला लगा दिया. 

मारवाड़ जनाना हॉस्पिटल पर आयकर विभाग की कार्रवाई, भामाशाह योजना में गड़बड़ी की आशंका
फाइल फोटो

कुचामन सिटी: प्रदेश में भामाशाह योजना में निजी चिकित्सालयों द्वारा गड़बड़ी कर सरकार को चूना लगाने की खबरे सामने आने के बाद सरकार ने निजी चिकित्सालयों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है. इस कड़ी में कुचामन सिटी के मारवाड़ जनाना अस्पताल पर आयकर विभाग की टीम मंगलवार को कार्रवाही के लिए पहुंची. हॉस्पिटल संचालक डॉ. ओपी बिसू के वर्तमान में चिकित्सालय संचालित होने वाले भवन और शीघ्र शुरू होने वाले नवनिर्मित चिकित्सालय भवन में आयकर विभाग की अलग-अलग टीमों ने सर्वे की कार्यवाही शुरू की. 

जानकारी के अनुसार आयकर विभाग की टीमे सुबह 11 बजे राजकीय चिकित्सालय के सामने स्थित मारवाड़ जनाना हॉस्पीटल व बूड़सु रोड़ स्थित शीघ्र शुरू होने वाली इसी हॉस्पीटल की नई बिल्डिंग पर अचानक पहुंची. आयकर विभाग की टीमें जिनमे करीब 30 से 32 सदस्य शामिल है, आधा दर्जन वाहनों में सवार होकर आई. 

टीम में शामिल आयकर विभाग के अधिकारी पुलिस जवानों के साथ उतरे और सीधे हॉस्पीटल के अंदर पहुंचकर सभी दरवाजों को बंद कर ताला लगा दिया. इसके बाद अधिकारियों ने हॉस्पिटल संचालक डॉ. ओपी बिसु व उनके स्टाफ से पूछताछ शुरू की. टीम ने चिकित्सालय के दस्तावेजों को खंगालना शुरू किया. इस दौरान हॉस्पीटल रोड़ पर लोगों की भीड़ भी लग गई जिसे पुलिस ने हटाया. 
कार्यवाही के दौरान मरीज के परिजनों को छोडकर किसी भी व्यक्ति को अन्दर नही जाने दिया गया. कार्रवाई से मीडिया को भी दूर रखा जा रहा है. संयुक्त आयकर आयुक्त जोधपुर यशोधर पारीक के नेतृत्व में जोधपुर, नागौर व मकराना के आयकर अधिकारियों व कर्मचारियों ने सर्वे शुरू किया. 

कयास लगाए जा रहे हैं कि निजी चिकित्सालयो पर भामाशाह योजना में गड़बड़ी के आरोप पूरे प्रदेश में लग रहे हैं. इसी के साथ  साथ कुचामन के मारवाड़ जनाना अस्पताल की नई आलीशान बिल्डिंग की जानकारी भी आयकर विभाग तक पहुंच गई है. इसी के चलते आयकर विभाग की टीम कुचामन पहुंची है और सर्वे की कार्रवाई को अंजाम दिया जा रहा है.