उदयपुर: नरेगा आयुक्त PC किशन ने ली समीक्षा बैठक, दिए ये बड़े निर्देश

बैठक में आयुक्त किशन ने नरेगा कार्यों की प्रगति के सम्बंध में समीक्षा की.

उदयपुर: नरेगा आयुक्त PC किशन ने ली समीक्षा बैठक, दिए ये बड़े निर्देश
बैठक में आयुक्त किशन ने नरेगा कार्यों की प्रगति के सम्बंध में समीक्षा की.

अविनाश जगनावत, उदयपुर: जिले में नरेगा के तहत चल रहे कार्यों की प्रगति को लेकर नरेगा आयुक्त पी.सी. किशन ने जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक ली. यूआईटी सभागार में आयोजित हुई इस बैठक में आयुक्त किशन ने नरेगा कार्यों की प्रगति के सम्बंध में समीक्षा की.

राज्य सरकार के निर्देशानुसार, उदयपुर आए आयुक्त पी.सी. किशन ने बैठक के दौरान जिलें में विभिन्न विभागीय योजनाओं, फ्लेगशिप कार्यक्रमों एवं जनकल्याण से जुड़े विभिन्न प्रोजेक्ट्स का भी फीडबैक लिया. साथ ही इन कार्यों की प्रभावी मॉनिटरिंग और कार्य की गुणवत्ता का पूरा ध्यान रखने के निर्देश दिए.

उन्होंने कहा कि केन्द्र और राज्य सरकार की ओर से जनकल्याण के लिए मिलने वाली राशि का पूर्ण सदुपयोग पूर्ण पारदर्शिता के साथ हो और अंतिम तबके के व्यक्ति तक इसका लाभ पहुंचे. इसके लिए जिला, उपखण्ड एवं ग्राम स्तर के अधिकारियों को विशेष मॉनिटरिंग करते हुए नियमित फीड बैक लेने के निर्देश दिए.उन्होंनेे कोरोना महामारी के दृष्टिगत वर्तमान दौर में जरूरतमंद व्यक्ति को राहत प्रदान करने के निर्देश दिए. जिले में कोरोना के स्थिति पर समीक्षा के बाद आयुक्त किशन ने इसके लिए प्रभावी प्रयास करने पर जोर दिया.

जनजागरूकता प्रयासों को सराहा
नरेगा आयुक्त ने जिला प्रशासन, सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग एवं चिकित्सा विभाग द्वारा राज्य सरकार के दिशा-निर्देशानुसार कोरोना से बचाव के लिए चलाए जा रहे जनजागरूकता कार्यक्रमों की सराहना की. उन्होंने कहा कि सरकार की मंशा है कि हर व्यक्ति तक यह जागरूकता संदेश पहुंचे और आमजन जागरूक होकर कोरोना से बचने के लिए बताये गये उपायों को अपनी जीवन शैली में शामिल करें.तभी हम कोरोना पर नियंत्रण पा सकते हैं.

कलक्टर देवड़ा ने दिया फीडबैक
बैठक के दौरान जिला कलक्टर चेतन देवड़ा ने बताया कि जिला प्रशासन की ओर से कोरोना से बचने के लिए एक नयी मुहिम प्रारंभ की गई है, जिसमें आमजन को यह मंत्र दिया गया है कि एक दूसरे को टोकें और कोरोना को फैलने से रोकें, जिसे आयुक्त किशन ने अनुकरणीय बताया.

कोरोना में नरेगा ने दिया संबल
आयुक्त किशन ने बताया कि कोविड-19 महामारी के दौर में प्रदेश भर में मनरेगा योजना ने हर जरूरतमंद व्यक्ति को संबल प्रदान किया है. उन्होंने बताया कि राज्य सरकार के निर्देशानुसार कोरोना काल में अधिक से अधिक लोगों को नरेगा से जोड़ते हुए राहत प्रदान की गई है.

प्रजेन्टेशन में बताई प्रगति
बैठक में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग, जिला परिषद, स्मार्ट सिटी, नगर निगम, विद्युत विभाग, सार्वजनिक निर्माण विभाग, नगर विकास प्रन्यास, श्रम विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग, आरयूडीआईपी, रसद विभाग, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग, जल संसाधन विभाग, रीको, जिला उद्योग केन्द्र व राजस्थान सम्पर्क के अधिकारियों ने अपने-अपने विभाग के कार्यों एवं योजनाओं की प्रगति के संबंध में प्रजेन्टेशन प्रस्तुत किया.

प्रजेन्टेशन के दौरान आयुक्त ने विभागीय कार्यों की स्थिति के बारे में जानकारी प्राप्त करते हुए इनके समयबद्ध क्रियान्वयन के निर्देश दिए. साथ ही उन्होंने विभिन्न कार्यों के प्राप्त होने वाले बजट का योजनानुसार समय पर उपयोग करने एवं तय समयावधि में कार्य पूर्ण कर लोगों को राहत प्रदान करने पर जोर दिया.

जिला कलक्टर चेतन देवड़ा ने जिले की स्थिति के संबंध में आयुक्त को अवगत कराते हुए उनके निर्देशों की पालना सुनिश्चित कराने का आश्वासन दिया और प्रशासन की ओर से आयुक्त का आभार जताया.

बैठक में ये रहे मौजूद
बैठक में जिला पुलिस अधीक्षक कैलाश चन्द्र विश्नोई, अतिरिक्त जिला कलक्टर संजय कुमार और ओ.पी. बुनकर, यूआईटी सचिव अरूण कुमार हसीजा सहित अन्य संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद रहे.