जयपुर: राविवि में दीक्षांत समारोह में पदोन्नति की मांग को लेकर आक्रोश

राजस्थान विश्व विद्यालय में लम्बे समय से पदोन्नति नहीं होने के चलते विवि के शिक्षकों में भारी आक्रोश है. गुरुवार को ये आक्रोश विवि के दीक्षांत समारोह में भी देखने को मिला. 

जयपुर: राविवि में दीक्षांत समारोह में पदोन्नति की मांग को लेकर आक्रोश
राजस्थान विश्व विद्यालय में पदोन्नति नहीं होने के चलते शिक्षकों में भारी आक्रोश

ललित कुमार,जयपुर: राजस्थान विश्व विद्यालय में लम्बे समय से पदोन्नति नहीं होने के चलते विवि के शिक्षकों में भारी आक्रोश है. गुरुवार को ये आक्रोश विवि के दीक्षांत समारोह में भी देखने को मिला. जहां कन्वेंशन सेंटर में दीक्षांत समारोह मनाया जा रहा था तो वहीं राविवि के 81 शिक्षक दीक्षांत समारोह का बहिष्कार करते दिखे. 

शिक्षक कुलपति सचिवालय के बाहर धरना दे रहे थे. लम्बे समय से पदोन्नत नहीं होने साथ ही शिक्षकों के सामने आ रही समस्याओं को लेकर आंदोलन कर रहे शिक्षक नेता सतपाल सिंह ने बताया की कई बार सरकार और कुलपति को अपनी समस्या से अवगत करवाया जा चुका है, लेकिन अभी तक भी मांगों को लेकर कोई समाधान नहीं हो पाया है. जिसके बाद गुरुवार को दीक्षांत समारोह का बहिष्कार कर धरना दिया गया है. 

वहीं शिक्षकों के धरने पर उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी ने कहा कि शिक्षकों की समस्या को सरकार अच्छी तरह समझती है, लेकिन धरना देने से किसी भी समस्या का समाधान नहीं होता है. बैठकर वार्ता करने से ही समस्या का समाधान होता है. 

वहीं कुलपति आरके कोठारी ने कहा कि शिक्षकों ने कई बार पदोन्नति की मांग को लेकर वार्ता की है. उनको हर बात बता दी गई है कि ये फैसला सरकार के स्तर पर होना है, लेकिन उसके बाद भी हर बार कुलपति सचिवालय के बाहर धरना देना ठीक नहीं है. 

दरअसल लंबे समय से पदोन्नति को लेकर राजस्थान विश्व विद्यालय के शिक्षक मांग करते आये हैं, लेकिन इस बार उनका गुस्सा फूट पड़ा. शिक्षकों का कहना है कि उनकी मांगों को अनसूना किया जा रहा है, जबकि वो शांति से अपनी पदोन्नति की मांग कर रहे हैं और अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन कर रहे हैं. ऐसे में सरकार से मांग है कि उमकी मांगों और समस्याओं पर ध्यान दिया जाये.