73 साल की हुई राजस्थान यूनिवर्सिटी, मनाया गया स्थापना दिवस

8 जनवरी 1947 को प्रदेश के सबसे बड़े विश्वविद्यालय की स्थापना हुई और उस समय इसको नाम दिया गया राजपुताना विश्वविद्यालय

73 साल की हुई राजस्थान यूनिवर्सिटी, मनाया गया स्थापना दिवस
कार्यक्रम की शुरूआत राविवि के कुलगीत के साथ हुई

ललित कुमार/जयपुर: 8 जनवरी 1947 को स्थापित हुए राजस्थान विश्व विद्यालय ने आज अपना 73वां स्थापना दिवस मनाया. स्थापना दिवस के मौके पर प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद रहे तो वहीं कार्यक्रम की अध्यक्ष राविवि कुलपति आरके कोठारी ने कहा राजस्थान विश्व विद्यालय के मानविकी पीठ में आयोजित हुए कार्यक्रम में चारों संघटक कॉलेजों के प्रिंसिपल, सभी विभागों के अध्यक्ष और यूनिवर्सिटी के शिक्षक और कर्मचारी मौजूद थे.

गौरतलब है कि 8 जनवरी 1947 को प्रदेश के सबसे बड़े विश्वविद्यालय की स्थापना हुई और उस समय इसको नाम दिया गया राजपुताना विश्व विद्यालय. इसी विश्व विद्यालय का मंगलवार को स्थापना दिवस मनाया गया. कार्यक्रम की शुरूआत राविवि के कुलगीत के साथ हुई तो वहीं यूनिवर्सिटी द्वारा किए गए विकास कार्यों का बखान कुलपति आरके कोठारी ने किया. वीसी आरके कोठारी ने बताया की बीते कुछ सालों से लगातार विवि में छात्र हितों से जुड़ी हुई कार्य हुए हैं साथ ही नई लाइब्रेरी और छात्राओं के लिए लगी सेनेट्री नेपकीन मशीन विवि की एक और उपलब्धी होंगे.

उच्च शिक्षा मंत्री बनने के बाद पहली बार किसी कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे भंवर सिंह भाटी ने भी राजस्थान विश्वविद्यालय की जमकर तारीफ की. भाटी ने कहा की ये वो यूनिवर्सिटी है जिससे कई ऐसी प्रतिभाएं निकली हैं जिनकी मिसाल पूरे विश्व में दी जाती है. इसके साथ ही भंवर सिंह भाटी ने कहा की यूनिवर्सिटी के विकास के लिए बहुत से काम करने हैं. कर्मचारियों और शिक्षकों की समस्याएं हैं जिनको दूर किया जाएगा.

भंवर सिंह भाटी ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा की कांग्रेस सरकार का एक ही लक्ष्य है और वो है बेरोजगारों को रोजगार उपलब्ध करवाना. इसके साथ ही यूनिवर्सिटी की गिरती हुई रैंकिंग को फिर से ऊपर लाने के भी प्रयास किये जाएंगे. साथ ही भंवर सिंह भाटी ने कहा की भर्तियों को लेकर कुछ शिकायत मिली थी और इन शिकायतों का भी जल्द निस्तारण किया जाएगा. इस दौरान उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी ने कहा कि वो राजस्थान यूनिवर्सिटी के शोध और शैक्षिक कार्यों के सुधार के लिए पहल करेंगे.

भाटी ने कहा कि यूनिवर्सिटी में शिक्षक भर्ती और स्टूडेंट की समस्या पर भी समीक्षा करेंगे और फिर उनको दुरूस्त करेंगे. भाटी ने कहा कि राजस्थान यूनिवर्सिटी का इतिहास गौरवांवित रहा है. वहीं राजस्थान विश्व विद्यालय के मानविकी पीठ में आयोजित कार्यक्रम में विरोध की चेतावनी के बाद जहां भारी पुलिस जाप्ता कैम्पस में तैनात रहा तो वहीं कार्यक्रम समाप्ति के बाद उच्च शिक्षा मंत्री को पीछे के दरवाजे से बाहर ले जाना पड़ा. लेकिन वहां भी यूनिवर्सिटी के छात्रों द्वारा विरोध का सामना करना पड़ा.