अजमेर: राजनीति में प्रवेश की तैयारी में रॉबर्ट वाड्रा, मुरादाबाद से कर सकते शुरुआत

 रॉबर्ट वाड्रा ने खुलासा किया कि वे राजनीति में प्रवेश का प्रयास कर रहे हैं. वाड्रा के अनुसार, उनके निकटतम लोगों का मानना है कि उन्हें मुरादाबाद से चुनावी राजनीति की शुरुआत करनी चाहिए.

अजमेर: राजनीति में प्रवेश की तैयारी में रॉबर्ट वाड्रा, मुरादाबाद से कर सकते शुरुआत
गांधी परिवार की सुरक्षा में किए गए बदलाव को लेकर रॉबर्ट वाड्रा ने भी सवाल खड़े किए.

मनवीर सिंह, अजमेर: सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) के दामाद और प्रियंका वाड्रा गांधी के पति रॉबर्ट वाड्रा (Robert Vadra) भी अब राजनीति में आने की तैयारी कर रहे हैं. इस बात के संकेत उन्होंने मंगलवार को अजमेर (Ajmer) यात्रा के दौरान जी मीडिया से खास बातचीत में दिए.

अपने इस नये अवतार की तैयारियों में जुटे रॉबर्ट वाड्रा ने भी अपने राजनैतिक जीवन की शुरुआत राजनैतिक आरोपों के साथ की है और तेलंगाना में वेटेनरी डॉक्टर के साथ गैंग रेप और हत्या के मामले को आधार बना कर केंद्र सरकार को घेरा. वाड्रा ने आरोप लगाया कि देश में इस समय महिलाएं और बच्चियां असुरक्षित हैं और भय का माहौल बना हुआ है. 

जी मीडिया से बात करते हुए एक सवाल के जवाब में रॉबर्ट वाड्रा ने खुलासा किया कि वे राजनीति में प्रवेश का प्रयास कर रहे हैं. वाड्रा के अनुसार, उनके निकटतम लोगों का मानना है कि उन्हें मुरादाबाद से चुनावी राजनीति की शुरुआत करनी चाहिए क्योंकि मुरादाबाद उनका जन्मस्थान है लेकिन साथ ही वाड्रा का यह भी कहना था कि वे अपने आप को किसी स्थान विशेष से नहीं बांधना चाहते. वाड्रा के अनुसार, फिलहाल वे समाज सेवा से जुड़ी अनेक संस्थाओं के साथ मिल कर काम कर रहे हैं और उनका कार्यक्षेत्र पूरा देश है. 

केंद्र सरकार पर बोला हमला
रॉबर्ट वाड्रा ने आरोप लगाया कि इस समय देश भर में महिलाओं और बच्चियों को लेकर अपराधों में इजाफा हुआ है. आज देश में भय का माहौल है. रॉबर्ट वाड्रा ने कहा कि इस समय देश को इन अपराधों के खिलाफ एक सख्त कानून की जरूरत है. देश की जरूरत बिलकुल उसी तरह के सख्त कानून की है, जिस तरह के कानून अन्य देशो में है. कांग्रेस शासित राज्यों में भी इसी तरह के सख्त कानूनों के सवाल पर उनका कहना था कि यह सरकारों का काम है. सरकारे सोंचे कि उनके राज्यों में किस तरह का कानून बने लेकिन देश में महिलाओं और बच्चियों की सुरक्षा एक बड़ी चिंता का करण बनता जा रहा है.

प्रियंका वाड्रा का राजनैतिक भविष्य कांग्रेस तय करेगी 
प्रियंका वाड्रा गांधी के राजनैतिक कद को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में उनका कहना था कि यह कांग्रेस को तय करना है कि उनकी क्या भूमिका रहेगी. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की राजनैतिक विफलताओं के बाद प्रियंका को कमान सौंपने के सवाल पर रॉबर्ट वाड्रा ने सवाल से किनारा करते हुए केवल इतना कहा कि सही समय पर सही निर्णय लिया जाएगा और यह निर्णय ही महत्वपूर्ण होगा.

रॉबर्ट वाड्रा का सवाल, क्या सरकार को किसी बड़े हादसे का इंतजार?
गांधी परिवार की सुरक्षा में किए गए बदलाव को लेकर रॉबर्ट वाड्रा ने भी सवाल खड़े किए. उनका कहना था कि किसी भी व्यक्ति या नेता की सुरक्षा संभावित खतरों और धमकियों के मद्देनजर की जाती है. रॉबर्ट वाड्रा ने पूछा कि क्या केंद्र सरकार फिर किसी बड़े हादसे का इंतजार कर रहा है. वाड्रा ने प्रियंका वाड्रा के आवास पर अनजान व्यक्तियों के घुसने और सेल्फी खिचाने की मांग को सुरक्षा में कड़ी चूक करार देते हुए कहा कि कल यदि कोई वारदात होती है तो उसका जवाबदार कौन होगा?

किसी नेता की तरह नजर आए रॉबर्ट वाड्रा 
आम तौर पर मीडिया से दुरिया रखने वाले रॉबर्ट वाड्रा अजमेर में किसी राजनेता के अंदाज में नजर आए. यहां वाड्रा के आग्रह पर मीडिया को बुलवाया गया और रॉबर्ट वाड्रा ने खुल कर मीडिया से संवाद किया. इस दौरान कमरे में मात्र उनके दो सुरक्षा कर्मी ही मौजूद रहे.