close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कोटा: तनाव के कारण तैयारी कर रहे छात्र कर रहे आत्महत्या, अब तक 6 दे चुके हैं जान

इस दौरान साल 2018 में लगभग 20 छात्रों ने यहां खुदकुशी कर ली थी. वहीं, इस साल 2019 में अब तक 6 छात्र खुदकुशी कर चुके हैं.

कोटा: तनाव के कारण तैयारी कर रहे छात्र कर रहे आत्महत्या, अब तक 6 दे चुके हैं जान
कोटा में 20 बड़ी और छोटी कोचिंग संस्थान है. (प्रतीकात्मक फोटो)

केके शर्मा, कोटा: राजस्थान के कोटा शहर में एक कोचिंग छात्र ने दो दिन पहले फांसी लगाकर सुसाइड कर लिया था. इस मामले में पुलिस जांच के दौरान छात्र के तनाव में होने के कारण यह कदम उठाने की बात सामने आई है. पुलिस को छात्र के कमरे से सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है.

पुलिस सूत्रों के अनुसार, जांच में यह बात सामने आई कि कोचिंग के टेस्ट में मृतक छात्र अमित के नंबर कम आये थे. जिसके बाद छात्र को उसके बैच बी1 से निकाल कर बी5 बैच में भेज दिया गया था. इस दौरान तनाव में आने के कारण छात्र ने अपने कमरे में फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली.

बरामद हुआ सुसाइड नोट
इस दौरान पुलिस को छात्र के कमरे से एक सुसाइड नोट बरामद हुआ है. जिसको पढ़ने से उसकी मानसिक स्थिति का अंदाजा लगाया जा सकता है. पुलिस का कहना है कि तनाव के कारण उसने ऐसा कदम उठाया. पुलिस सूत्रों के अनुसार, मृतक छात्र अमित बिहार के मधुबनी का रहने वाला था. 

लाइव टीवी देखें-:

इन कारणों से पड़ रहा है मनोबल पर असर
माना जा रहा है कि कोटा की कोचिंग सेंटर्स में पढ़ने वाले छात्रों को दिया जा रहा पढ़ाई का तनाव, टेस्ट प्रणाली और रैंकिंग का असर उनके मनोबल पर पड़ रहा है. इस दौरान साल 2018 में लगभग 20 छात्रों ने यहां खुदकुशी कर ली थी. वहीं, इस साल 2019 में अब तक 6 छात्र खुदकुशी कर चुके हैं.

मेडिकल और इंजिनियरिंग की कोचिंग का हब कोटा
आपको बता दें कि कोटा में 20 बड़ी और छोटी कोचिंग संस्थान है. जहां छात्र मेडिकल और इंजिनियरिंग की तैयारी करवा रहे हैं. माना जाता है कि यहां पर पूरे देश के 2.50 लाख विद्यार्थी रह कर प्रतियोगिता परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं. कोटा के कोचिंग संस्थानों में एक बैच में 1000 से 1200 छात्र एकसाथ पढ़ाई करते हैं.