close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान में बेकाबू हुआ स्वाइन फ्लू, 3 दिन में 44 पॉजिटिव मामले आए सामने

2019 को शुरू हुए अभी 3 दिन भी नहीं हुए कि प्रदेशभर से लगभग 44 पॉजिटिव केस सामने आ चुके हैं. जिनमें से सबसे अधिक केस जोधपुर जिले के हैं. 

राजस्थान में बेकाबू हुआ स्वाइन फ्लू, 3 दिन में 44 पॉजिटिव मामले आए सामने
फाइल फोटो

आशुतोष शर्मा/जयपुर: राजस्थान में ठंड के साथ साथ स्वाइन फ्लू भी तेजी से पैर पसारता जा रहा है. स्वाइन फ्लू के मामले में राजस्थान देश में दुसरे स्थान पर है. लगातार बढ़ रहे स्वाइन फ्लू के मामलों के चलते एक ओर जहां मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से लेकर चिकित्सा एंव स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा बेहद संवेदनशील हैं तो वहीं दूसरी ओर कई कोशिशों के बाद भी भी राज्य में स्वाइन फ्लू का खतरा कम नहीं हो रहा है. 

2019 को शुरू हुए अभी 3 दिन भी नहीं हुए कि प्रदेशभर से लगभग 44 पॉजिटिव केस सामने आ चुके हैं. जिनमें से सबसे अधिक केस जोधपुर जिले के हैं. हेल्थ मिनिस्टर डॉ. रघु शर्मा ने बताया कि नई सरकार और स्वास्थ्य महकमा हर संभव कोशिश में कर रहा है. डॉ. रघु शर्मा ने प्रदेश की जनता से अपील करते हुए कहा है कि स्वाइन फ्लू के शुरुआती लक्षण सामने आते ही तुरंत नजदीकी चिकित्सा केंद्र में पहुंचे क्योंकि स्वाइन फ्लू का अगर समय रहते उपचार किया जाए तो ये जानलेवा नहीं है. 

वहीं चिकित्सा मंत्री ने बताया कि जल्द चिकित्सा शिक्षा विभाग के साथ मिलकर अभियान चलाया जायेगा और स्वाइन फ्लू से होने वाली मौत पर अगर लापरवाही सामने आती है तो तुरंत एक्शन भी लिया जाएगा. 

वहीं स्वास्थ्य विभाग ने ऐसी स्थिति में प्रदेश भर में हाई अलर्ट जारी किया है. जयपुर, कोटा, जोधपुर, अजमेर, उदयपुर, पाली, अलवर सहित अन्य कुछ जिलों में विशेष फोकस किया जा रहा है. इस कड़ी में चिकित्सा विभाग की टीम शहर भर में घर घर जा कर सर्वे कर रही है और जो भी सर्दी, जुकाम के संदिग्ध मिल रहे उन्हें टेमी टेबलेट देकर अस्पताल में इलाज के लिए भेजा जा रहा है.