सरकार की डाक से ड्राइविंग लाइसेंस योजना को पलीता,दफ्तर के चक्कर लगा रहे लोग

डाक योजना की शुरुआत तो इसलिए की गई थी की लोगों को राहत मिल सके लेकिन इसके उलट ये योजना अब लोगों के जी का जंजाल बन गई है. कई लोगो ने बताया है तीन तीन महीनों से हमे हमारा आरसी और ड्राइविंग लाइसेंस नही मिल पा रहा है

सरकार की डाक से ड्राइविंग लाइसेंस योजना को पलीता,दफ्तर के चक्कर लगा रहे लोग
प्रतीकात्मक तस्वीर

डीडवाना: प्रदेश में परिवहन विभाग ने वाहन मालिको को वाहनों के आरसी और वाहन चलाने के लिए लाइसेंस को बनाने के लिए दलालों से बचाने के लिए  डाक विभाग के जरिये आवेदक के घर तक रजिस्टर्ड डाक द्वारा भेजे जाने की व्यवस्था शुरू कर दी गई थी  मगर विभाग द्वारा  आवेदकों के लिए शुरू की गई यह योजना आवेदकों के लिए दुविधा बनती जा रही है. और आवेदन करने के तीन तीन महीने तक पंजीकरण प्रमाण पत्र आरसी और चालक का लाइसेंस नही मिल पा रहा है जिससे आवेदकों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

जाहिर है डाक योजना की शुरुआत तो इसलिए की गई थी की लोगों को राहत मिल सके लेकिन इसके उलट ये योजना अब लोगों के जी का जंजाल बन गई है. कई लोगो ने बताया है तीन तीन महीनों से हमे हमारा आरसी और ड्राइविंग लाइसेंस नही मिल पा रहा है नए वाहन मालिक को नम्बर नही मिल पाने की वजह से पुलिस और परिवहन विभाग द्वारा परेशान किया जाता है और जुर्माना भी लगाया जाता है. तो वाहन चालकों को लाइसेंस नही मील पाने के कारण बेवजह चालान कटवाना पड़ रहा है.

वहीं आवेदकों की समस्या को लेकर जब जिला परिवहन विभाग का जायजा लिया गया तो पाया गया की  नई व्यवस्था लागू करने के बाद आरसी और लाइसेंस बनाने का काम जिस फर्म को दिया गया था उसको आरसी और ड्राइविंग लाइसेंस आगे से सप्लाई नही हो पा रही है फर्म संचालक इसको लेकर यह भी कहते है की एक आदेश आया था जिसके मुताबिक देशभर में आरसी और ड्राइविंग लाइसेन्स एक समान करने की योजना थी मगर यह सफल नही हो पाया . मगर अब आरसी और लाइसेंस सप्लाई हो गए है जिला परिवहन अधिकारी का कहना है कि आरसी और लाइसेंस आ चुके है और जल्द आवेदकों के प्रमाण पत्र बनकर तैयार हो जाएंगे और आवेदकों को मिलना शुरू हो जाएगा.