किशनगढ़ में कोरोना ने दी दस्तक, 2 संक्रमित मिलने के बाद प्रशासन अलर्ट

निजी कंपनी ने काम शुरू करने से पहले 30 कार्मिको को अपने सेंटर में क्वारेंटाइन किया था और जांच के लिए उनके सैंपल भी लिए गए थे. जिसमें एक की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है.

किशनगढ़ में कोरोना ने दी दस्तक, 2 संक्रमित मिलने के बाद प्रशासन अलर्ट
कोरोना वायरस ने मार्बल नगरी किशनगढ़ में दस्तक दे दी है.

पदम कोठारी/अजमेर: राजस्थान के रेड जोन (Red Zone) में शामिल अजमेर जिले में कोरोना वायरस (Coronavirus) का दायरा सिमटने की बजाय फैलता नज़र आ रहा है. लॉकडाउन (Lockdown) अवधि के 52 दिन बीत जाने के बाद आखिरकार कोरोना वायरस ने मार्बल नगरी किशनगढ़ में दस्तक दे दी है.

शनिवार शाम एक साथ दो कोरोना पॉजिटिव मामले सामने आने के बाद, मार्बल नगरी में हड़कंप मच गया. कोरोना पॉजिटिव का पहला मामला राजकीय वाईएन अस्पताल में भर्ती गर्भवती महिला निकली. यहां पर कोरोना ने जन्म लेने से पहले ही पेट मे पल रहे गर्भस्थ शिशु की सांसे तोड़ दी.

अजमेर जिले में कोरोना  प्रभाव से हुई है यह सबसे छोटी मौत है. शनिवार को गर्भवती महिला को यज्ञनारायण अस्पताल में भर्ती करवाया गया था. महिला के कोरोना संक्रमित होने के चलते बच्चे ने पेट मे ही दम तोड़ दिया. वहीं, महिला कोरोना पॉजिटिव आने के बाद गायनिक वार्ड के स्टॉफ को क्वारेंटाइन किया गया है.

इधर, कोरोना  पॉजिटिव का दूसरा मामला मार्बल की सबसे बड़ी कंपनी से जुड़ा है. इसमें निजी मार्बल कंपनी की जागरूकता सामने आई और किशनगढ़ कोरोना गढ़ होने से बच गया. दरअसल, निजी कंपनी ने काम शुरू करने से पहले 30 कार्मिको को अपने सेंटर में क्वारेंटाइन किया था और जांच के लिए उनके सैंपल भी लिए गए थे. जिसमें एक की रिपोर्ट पॉजिटिव आई, बाकी 29 लोगों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है.

वहीं, चिकित्सा विभाग ने पॉजिटिव आए युवक को अजमेर जेएलएन भेज दिया है, साथ ही, मामले की सूचना पर एसडीएम देवेंद्र कुमार, विधायक सुरेश टाक, सीओ सिटी गीता चौधरी सहित प्रशासनिक अमला वार्ड नं 9 में पहुंचा और क्षेत्र की सीमाओं को सील कर, पॉजिटिव के संपर्क में आए लोगों की जानकारी जुटा रहा है.

जानकारी के अनुसार, कोरोना पॉजिटिव आए युवक की पत्नी, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता का सैंपल भी जांच के लिए भेजा गया है. गौरतलब है कि, कोरोना पॉजिटिव की पत्नी लॉकडाउन (Lockdown) में सर्वे कार्य निभा रही थी.