कोटा में बोले संभागीय आयुक्त- युवा रोजगार मांगने के बजाय देने वाले की सोच करें विकसित

 सरकार द्वारा लघु और मध्यम उद्योगों की स्थापना के लिए सभी बाधाओं का दूर करने का कार्य किया गया है.

कोटा में बोले संभागीय आयुक्त- युवा रोजगार मांगने के बजाय देने वाले की सोच करें विकसित
कम पूंजी, कम स्किल होने पर भी आत्मनिर्भर उद्योगों की स्थापना कर आत्मनिर्भर बना जा सकता है.

कोटा: जिले में औद्योगिक विकास को गति और युवा उद्यमियों को सरकार की योजनाओं की जानकारी देने के लिए दो दिवसीय उद्यम समागम का शुभारंभ हुआ. इस दौरान संभागीय आयुक्त ने कहा कि सरकार द्वारा नवीन उद्योग स्थापित करने के लिए सरलीकरण करते हुए अनेक रियायतें दी हैं.

आगे उन्होंने कहा कि युवा उद्यमी इसका लाभ लेकर जिले में नये उद्योग स्थापना के लिए आगे आएं. उन्होंने समारोह में उपस्थित कॉलेज के विद्य़ार्थियों और युवाओं को आवाहन किया कि वे रोजगार मांगने वाले के बजाय योजनाओं का लाभ लेकर रोजगार प्रदान करने वाले बनकर देश की उन्नति में भागीदार बनें. उन्होंने कहा कि देश में रोजगार सृजन के कृषि, उद्यम और सेवा तीन क्षेत्र हैं, इनमें उद्यमिता की दिशा में प्रगति होने से कृषि के क्षेत्र में नवाचार और उपकरणों के माध्यम से तथा सेवा के लिए नए अवसर प्रदान कर देश को नई दिशा दी जा सकती है.

उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा लघु और मध्यम उद्योगों की स्थापना के लिए सभी बाधाओं का दूर करने का कार्य किया है. इससे कम पूंजी, कम स्किल होने पर भी आत्मनिर्भर उद्योगों की स्थापना कर आत्मनिर्भर बना जा सकता है. उन्होंने दो दिवसीय सेमिनार और विशेषज्ञों से संवाद कार्यक्रम में उत्पादों की गुणवत्ता में सुधार और मार्केटिंग में सुधार के लिए प्राथमिकता देने का सुझाव दिया. इससे पूर्व उन्होंने प्रदर्शनी का उद्घाटन कर प्रत्येक विभाग और उद्यमिता संस्थानों के स्टालों पर जाकर उत्पादों और नवाचारों को देखा. युवाओं को छोटे स्तर पर उद्यम की दिशा में आगे बढ़ने की प्रेरणा लेने की बात कही.

प्रदर्शनी में 50 स्टॉल लगाए गए 
महाप्रबंधक जिला उद्योग केंद्र आर. के सेठिया ने बताया कि समागम की मुख्य थीम फूड प्रोसेसिंग एवं जनरल इण्डस्ट्री निर्धारित की गई है. प्रदर्शनी में 50 स्टॉल लगाए गए हैं, जिनमें प्रमुख उत्पाद और स्टार्ट-अप की जानकारी मिलेगी. लघु उद्योग इंडस्ट्रीज के सहायक निदेशक अजय शर्मा ने कहा कि सरकार की मंशा क्लस्टर के रूप में उद्यमियों को सुविधाएं प्रदान कर रोजगार के अवसर, उत्पादन व निर्यात को बढ़ाना है. इस अवसर पर सयुक्त निदेशक उद्योग विभाग योगेंद्र गुरूनानी, जिला उद्योग अधिकारी हरिमोहन शर्मा सहित बडी संख्या में उद्यमी उपस्थित रहे.

उद्यम स्थापित करने में आ रही सभी बाधाए हुईं दूर- मित्तल
दी एस.एस.आई एसोसिएशन के अध्यक्ष गोविंद राम मित्तल ने कहा कि राज्य सरकार ने लघु उद्योगों की स्थापना के लिए नई पालिसी में जो प्रावधान किए हैं, उससे सभी बाधाएं दूर हो गई हैं. उन्होंने सुझाव दिया कि प्रदेश में उद्योगों की स्थापना के लिए युवाओं को विश्वविद्यालय स्तर पर पाठ्यक्रम में शामिल कर व्यवहारिक प्रशिक्षण भी दिया जाए, जिससे सफलता मिल सके. उन्होंने मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया कि नई पॉलिसी में कृषि प्रसंस्करण उद्योग के लिए अनेक छूट देकर प्रदेश में औद्योगिक वातावरण बनाया जा रहा है.  

औद्योगिक नगरी के रूप में बने पुनः पहचान- बाहेती
लघु उद्योग काउंसिल के अध्यक्ष एलसी बाहेती ने कहा कि लघु और मध्यम उद्योग के माध्यम से देश में रोजगार के अवसर अधिक है तथा औद्योगिक विकास की विपुल संभावनाएं हैं. उन्होंने कोटा में फूड प्रोसेसिंग, टैक्सटाइल्स पार्क, सिलिका सेंड की प्रोसेसिंग इकाई की स्थापना को प्रेरित कर औद्योगिक नगरी के रूप में पुनः पहचान बनाने का सुझाव दिया.

प्रदर्शनी में नए स्टार्ट-अप बने आकर्षण का केंद्र
उद्यम समागम में सरकारी और गैर सरकारी विभागों द्वारा लगाई गई प्रदर्शनी में स्टार्ट-अप से लेकर जिले में औद्योगिक विकास की सजीव झांकी दिखाई गई है. कोटा निवासी धीरेंद्र तंवर के ई-बगीची के स्टार्ट-अप से जहां पर्यावरण सरक्षंण व रोजगार का नया विकल्प युवाओं को आकर्षित कर रहा है. पाषाण वेलफेयर द्वारा कोटा स्टोन के वेस्ट से तैयार विभिन्न रंगों और डिजाइन की टाइल्स अनायास ही ध्यान आकर्षित कर रही हैं. गउ डेयरी के दुग्ध उत्पाद, कृषि विश्वविद्यालय और ग्रामीण विज्ञान केंद्र दिगोद द्वारा सोयाबीन, अलसी व सहजन के स्वास्थ्यवर्धक उत्पाद भी युवाओं को स्टार्ट-अप की संदेश दे रहे हैं. 

two-day venture meet start with new start-up message in kota rajasthan

प्रदर्शनी में क्रेजी बेकर्स बीकानेर, ग्रीन टेक मेगा फूड पार्क अजमेर, एस.के. एंड कंपनी जयपुर, सीजी फूडस गुडगांव, गोयल प्रोटीन्स, शिव एडीबल, शिव हेल्थ फूड, दिव्या एग्रो फूड प्रोडक्ट, ओम मेटल्स, सीएफसीएल, मित्तल पिगमेन्ट, पायस फूड, पिक्सल इलेक्ट्रो कंट्रोल, नेशनल कोलेटरेल मैनेजमेन्स सर्विसेज की स्टालों में स्टार्ट-अप का दिग्दर्शन हो रहा है.

युवाओं को बताएं स्टार्ट-अप के गुर
समागम में नासा अहमदाबाद के एच.एस. पुरोहित द्वारा फूड प्रोसेसिंग में व्याख्यान एवं परिचर्चा की गई. द्वितीय सत्र में जीएसटी पर सहायक वाणिज्य कर अधिकारी उमंग नंदवाना द्वारा जानकारी देकर उद्यमियों की समस्याओं का निराकरण किया.

समारोह में भारत सरकार के लघु उद्योग मंत्रालय द्वारा आयोजित प्रतियोगिताओं के विजेता विद्यार्थियों को सम्मानित किया गया. निबंध में प्रथम जवाहर नवोदय विद्यालय के राहुल कुमार, द्वितीय एलबीएस एकेडमी की हेमलता कुमारी, तृतीय डीएवी पब्लिक स्कूल के अंश शर्मा को नगद राशि देकर पुरूस्कृत किया गया. चित्रकला में प्रथम नूतन भारती स्कूल की वैष्णवी नायक, द्वितीय जवाहर नवोदय विद्यालय के दीपक कुमार, तृतीय एलबीएस एकेडमी की अदिति मालव को पुरूस्कृत किया गया