पुराने कोटा को मिलेगा नया रंग, विकास का विजन हो गया तैयार

स्वायत्त शासन मंत्री ने कहा कि शहर में विकास के कार्यों में कमी नहीं रहेगी. आगामी चार साल चरणबद्ध रूप से सभी क्षेत्रों का चहुंमुखी विकास कराया जाएगा. 

पुराने कोटा को मिलेगा नया रंग, विकास का विजन हो गया तैयार
स्वायत्त शासन मंत्री ने कहा कि शहर में विकास के कार्यों में कमी नहीं रहेगी.

कोटा: रियासत कालीन परकोटे के अंदर बसा शहर, वहां की सांस्कृतिक विरासत, परंपरा और रीति-रिवाजों का संवाहक होता है. वर्तमान में ऐसे स्थानों पर नागरिकों को आधारभूत विकास हमारी पहली प्राथमिकता है. 

स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल ने रामपुरा बाजार में 16 करोड़ की लागत से होने वाले विकास कार्यों के शिलान्यास के अवसर पर आयोजित सभा में उपस्थित जन समूह को संबोधित करते हुए व्यक्त किए.

स्वायत्त शासन मंत्री ने कहा कि नवविकसित क्षेत्रों में क्रमबद्ध विकास चलता रहता है. पुराना शहर अपनी मूलभूत अवश्यकताओं के लिए संघर्ष करता है लेकिन अब परकोटे के क्षेत्र में बसी कॉलोनियों में भी गुणवत्ता पूर्ण और समयबद्ध कार्य कराकर आधारभूत सुविधाओं को विकसित किया जाएगा. उन्होंने कहा कि कोटा शहर का रामपुरा, लाड़पुरा, बजाजखाना, चारखंभा, चर्च गली, घंटाघर जैसे क्षेत्र जीवन्त इलाके माने जाते हैं. यहां सीसी सड़कों का विकास में नालियों के कराया जाएगा. 

आगे उन्होंने कहा कि अनंत चतुर्दशी की शोभायात्रा में भी होने वाले मार्ग पर भी इस विकाय कार्य की बदोलत गुणवत्ता पूर्ण सीसी सड़कों के निर्माण से बार-बार क्षतिग्रस्त होने की समस्याओं से निजात मिलेगी. उन्होंने कहा कि बरसात के दौरान शहर के अंदरूनी इलाकों में पानी भराव की समस्या से स्थाई मुक्ति के लिए गढ़ से कैथूनीपोल, पाटनपोल, लाल बुर्ज से सब्जी मण्डी वाले नाले का निर्माण भी कराया जाएगा. 

विकास के कार्यों में कमी नहीं रहेगी
स्वायत्त शासन मंत्री ने कहा कि शहर में विकास के कार्यों में कमी नहीं रहेगी. आगामी चार साल चरणबद्ध रूप से सभी क्षेत्रों का चहुंमुखी विकास कराया जाएगा. उन्होंने कहा कि शहर में 36 करोड़ नहीं बल्कि 3600 करोड़ रुपये के कार्य होंगे. प्रथम चरण में ही सीवरेज, पेयजल, सड़क जैसी आधारभूत सुविधाओं के लिए सैकड़ों करोड़ के कार्य वर्तमान में प्रगतिरत है. उन्होंने उपस्थित जनसमूह को आव्हान किया कि वे प्रगतिरत कार्यों की निरंतर मॉनिटरिंग करें. किसी भी प्रकार की अनियमितता होने पर तुरंत उच्च अधिकारियों के ध्यान में लाएं. उन्होंने कहा कि शहर में प्रत्येक वार्ड में कसरा उठाव के लिए दो टिपर अग्निशमन सुविधाओं को बढ़ाने के लिए हाई प्रेशर के मिनी अग्निशमन वाहन पांच, दो मोटर बाईक, तीन मिनी वाहन भी क्रय किए जा रहे हैं. 200 मीटर ऊंचे भवनों की सुरक्षा के लिए एरियल लिफ्ट अलग से मंगाई जा रही है. 

प्रशासक नगर निगम वासुदेव मालावत ने विकास कार्यों की विस्तृत जानकारी देते हुए कहा कि सभी कार्य गुणवत्ता के साथ समय पर कराए जाएंगे. इस अवसर पर पूर्व अध्यक्ष यूआईटी रविन्द्र त्यागी, नगर निगम के अधीक्षण अभियंता प्रेमशंकर शर्मा, डॉ. जफर मोहम्मद, राजेन्द्र सांखला तथा संदीप भाटिया सहित बड़ी संख्या में स्थानीय नागरिकों ने स्वागत किया.

ये होंगे कार्य
स्वायत्त शासन मंत्री ने बताया कि 16 करोड़ की लागत से कराए जाने वाले कार्यों से 6 वार्डों क्रमशः 17, 40, 41, 42, 43 और 44 के नागरिक लाभान्वित होंगे. 70 छोटी मध्यम सड़कें तथा 6 प्रमुख सड़कें सीमेंट कंक्रीट से बनाई जायेंगी. वर्षा के समय पानी भराव वाले 9 बड़े क्रमशः कैथूनीपोल, पाटनपोल, लाल बुर्ज और सब्जी मण्डी के नालों का जीर्णोद्धार कराया जाएगा.