Rajasthan में क्यों लगा Weekend Curfew? इस बार बहुत भयानक हैं ये आंकड़े

राजस्थान (Rajasthan News) में बढ़ते कोरोना संक्रमण को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बड़ा फैसला लिया है. 

Rajasthan में क्यों लगा Weekend Curfew? इस बार बहुत भयानक हैं ये आंकड़े
फाइल फोटो

Jaipur : राजस्थान (Rajasthan News) में बढ़ते कोरोना संक्रमण को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बड़ा फैसला लिया है. सरकार ने दिल्ली की तर्ज पर राजस्थान में वीकेंड कर्फ्यू (Rajasthan Weekend Curfew) लगाने की घोषणा की है. ये कर्फ्यू हर शुक्रवार शाम 6 बजे से सोमवार सुबह 5 बजे तक प्रभावी रहेगा. यानि 59 घंटे के लिए पूरे प्रदेश में कर्फ्यू (Weekend Curfew In Rajasthan) रहेगा. 

यह भी पढ़ें- Jaipur : मोती डूंगरी गणेश जी मंदिर में 30 अप्रैल तक No Entry, ऐसे होंगे दर्शन

गृह विभाग कर्फ्यू को लेकर आज विस्तृत गाइडलाइन जारी करेगा. सीएम अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने पुलिस प्रशासन के अधिकारियों से कर्फ्यू की सख्ती से पालना कराने के लिए कहा है. साथ ही ट्वीट कर जनता से अपील कि है कि वो कर्फ्यू (Night Curfew In Rajasthan) की पालना में सरकार का सहयोग करें. 

सीएम ने लिखा है कि कर्फ्यू के दौरान सब्जी, दूध, एलपीजी और बैंकिंग सेवाओं को छूट दी गई है. आपातकालीन सेवाएं पहले की तरह जारी रहेंगी. इसके अलावा 17 अप्रैल को उपचुनाव वाले तीनों विधानसभा क्षेत्रों और उससे जुड़ी सभी प्रक्रिया को कर्फ्यू से मुक्त रखा गया है. 

प्रदेश में वीकेंड कर्फ्यू क्यों लागू हुआ है. इसके पीछे की वजह है बेकाबू होता कोरोना (Coronavirus). गुरुवार को प्रदेश में 6658 कोरोना संक्रमित मरीज मिले, जबकि 33 लोगों की मौत दर्ज की गई. स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक जयपुर से 848, जोधपुर से 847, कोटा से 638, अलवर से 361, बीकानेर से 194, उदयपुर से 711, अजमेर  से 258, भीलवाड़ा से 332, पाली से 54, नागौर से 85, सीकर से 145, भरतपुर से 89, डूंगरपुर से 239, श्रीगंगानगर से 82, राजसमंद से 247, जालोर से 121, चित्तौड़गढ़ से 174, बाड़मेर से 24, सिरोही से 71, झुंझुनूं से 70, झालावाड़ से 128, चूरू से 33, धौलपुर से 61, टोंक से 64, हनुमानगढ़ से 131, बारां से 116, बूंदी से 32, बांसवाड़ा से 66, सवाई माधोपुर से 146, दौसा से 112, जैसलमेर से 28, करौली से 100, प्रतापगढ़ से 51 केस मिले हैं. प्रदेश में 3.35 लाख मरीज रिकवर हो चुके हैं, जबकि 49276 कोरोना एक्टिव केस मौजूद हैं.  

यह भी पढ़ें- Corona की दूसरी लहर में युवाओं को ज्यादा खतरा, मौतों का मुख्य कारण भी आया सामने