फर्जी कागजात तैयार कर करते थे लग्जरी गाड़ियां फाइनेंस, 7 जालसाज गिरफ्तार

आरोप है कि ये लोग फर्जी तरीके से तमाम शोरूम से फर्जी कागजात के सहारे चार पहिया और दो पहिया वाहन फाइनेंस कराते थे और बाद में उन्हें इन्ही फर्जी कागजात के सहारे लोगो को बेच दिया करते थे. 

 फर्जी कागजात तैयार कर करते थे लग्जरी गाड़ियां फाइनेंस, 7 जालसाज गिरफ्तार
पुलिस ने इस गिरोह के पास से पांच महंगी लग्जरी कारें और 7 महंगी बाइक बरामद की है.

लखनऊ: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की राजधानी लखनऊ (Lucknow) में क्राइम ब्रांच और कृष्णानगर पुलिस ने मिलकर एक ऐसे गिरोह का खुलासा किया है, जो फर्जी तरीके से पहले कागजात तैयार करता और बाद में इन कागजात के सहारे लग्जरी  गाड़िया फाइनेंस कराता था और तमाम एजेंसियों से फाइनेंस इन गाड़ियों को बेच दिया करता था. पुलिस ने गिरोह के सरगना सहित 7 लोगों को गिरफ्तार किया है और इनके पास से 5 लग्जरी, चार पहिया वाहन और 7 महंगी बाइक बरामद की है.

गिरफ्तार किए गए आरोपियों के नाम अमित यादव, रेहान, आनंद, अनिल, शमीम, विवेक और कलीमुद्दीन बताया जा रहा है. आरोप है कि ये लोग फर्जी तरीके से तमाम शोरूम से फर्जी कागजात के सहारे चार पहिया और दो पहिया वाहन फाइनेंस कराते थे और बाद में उन्हें इन्ही फर्जी कागजात के सहारे लोगो को बेच दिया करते थे. पुलिस की मानें तो इस जालसाज गिरोह ने अब तक कई गाड़ियों को फाइनेंस करा उन्हें कम दामों में बेचकर करोड़ों की काली कमाई की हुई है.

पुलिस ने बताया कि गिरोह का सरगना अमित यादव और रेहान है. जो अपने साथियों की मदद से पहले लोन लेने वाले लोगों के कागजातों में फर्जी तरीके से अपने साथी आनंद और अनिल की फोटो लगाते और इन्ही तैयार फर्जी कागजातों से बैंकों व फाइनेंस कंपनियों करा एजेंसियों से 4 पहिया और 2 पहिया वाहन निकलवाते थे और बाद में उन्हें बेचकर करोड़ों की कमाई किया करते थे. इनका ये जाल सिर्फ यूपी के तमाम जनपदों में ही नही बल्कि यूपी से बाहर कई राज्यों में फैला हुआ था.

पुलिस ने इस गिरोह के पास से पांच महंगी लग्जरी कारें और 7 महंगी बाइक बरामद की है. साथ बड़ी संख्या में फर्जी कागजात भी बरामद किए हैं. इनके इस फर्जीवाड़े में तमाम बैंक भी शामिल रहे है. जिनकी जांच में पुलिस जुट गई है.

ये वीडियो भी देखें: