एंबुलेंस कर्मियों की हड़ताल शुरू, ठप रहेंगी 102 और 108 सेवा, ये हैं मांगे

एबुलेंस की एएलएस सेवा नई कंपनी जिगित्सा को सौंपी गई है. यह कंपनी नए सिरे से भर्ती कर रही है. पहले से कार्यरत कर्मचारी इसका विरोध कर रहे हैं. कई दौर की बातचीत के बाद भी समझौता नहीं होने पर एएलएस एंबुलेंस कर्मचारियों के समर्थन में 102 और 108 एंबुलेंस कर्मियों ने भी हड़ताल शुरू कर दी थी.

 एंबुलेंस कर्मियों की हड़ताल शुरू, ठप रहेंगी 102 और 108 सेवा, ये हैं मांगे

रामपुर: एंबुलेंस कर्मियों ने रविवार रात से 108 और 102 एंबुलेंस सेवा ठप कर दी है. रामपुर में 46 एम्बुलेंस में से 43 एंबुलेंस ठप रहेगी. सिर्फ 3 एंबुलेंस इमरजेंसी कार्य के लिए चलती रहेगी. इससे प्रदेश भर में करीब ढाई हजार से अधिक एंबुलेंस खड़ी हो गई. एंबुलेंस की एएलएस सेवा नई कंपनी जिगित्सा को सौंपी गई 

102 और 108 एंबुलेंस कर्मियों की हड़ताल शुरू
आपको बता दें कि एंबुलेंस की एएलएस सेवा नई कंपनी जिगित्सा को सौंपी गई है. यह कंपनी नए सिरे से भर्ती कर रही है. पहले से कार्यरत कर्मचारी इसका विरोध कर रहे हैं. कई दौर की बातचीत के बाद भी समझौता नहीं होने पर एएलएस एंबुलेंस कर्मचारियों के समर्थन में 102 और 108 एंबुलेंस कर्मियों ने भी हड़ताल शुरू कर दी थी. अब रविवार रात से कार्य बहिष्कार शुरू हो गया है.

‘चुरा के दिल मेरा’ गाने पर बच्ची ने किया धमाकेदार Dance, यूजर्स ने कहा-जूनियर शिल्पा शेट्टी

 ठेका प्रथा खत्म की जाए-कर्मचारी

एंबुलेंस कर्मचारी संघ की मांग है कि एंबुलेंस कर्मियों को पहले से मिल रहा मानदेय दिया जाए. ठेका प्रथा खत्म की जाए. किसी तरह का बांड न भराया जाए और करोना कॉल में जान गंवाने वाले कर्मियों के परिजनों को 50 लाख रुपए मुआवजा दिया जाए.

WATCH LIVE TV