close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अमेठी हत्याकांड: DGP बोले- राजनीतिक रंजिश में हुई वारदात, BJP के लिए प्रचार करना पड़ा महंगा

पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) ओ.पी. सिंह ने कहा कि इसकी व्यापक संभावना जताई जा रही थी कि बीजेपी की नेता स्मृति ईरानी का चुनाव प्रचार करने के कारण उनकी हत्या की गई है.

अमेठी हत्याकांड: DGP बोले- राजनीतिक रंजिश में हुई वारदात, BJP के लिए प्रचार करना पड़ा महंगा
फोटो साभारः DNA

लखनऊ: उत्तर प्रदेश पुलिस ने मंगलवार को कहा कि अमेठी में पूर्व प्रधान और स्थानीय बीजेपी नेता सुरेंद्र सिंह के हत्यारे उनके स्थानीय राजनीतिक विरोधी थे. इसकी व्यापक संभावना जताई जा रही थी कि बीजेपी की नेता स्मृति ईरानी का चुनाव प्रचार करने के कारण उनकी हत्या की गई है. पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) ओ.पी. सिंह ने कहा कि सबूत बताते हैं कि पीड़ित की स्थानीय दुश्मनी थी. एक आरोपी पंचायत चुनाव लड़ना चाहता था, लेकिन सिंह चुनाव लड़ने के इच्छुक एक अन्य व्यक्ति का समर्थन कर रहे थे. पुलिस ने पांच नामजदों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर ली है.

वसीम, नसीम, गोलू और रामचंद्र को हत्या करने के जुर्म में, जबकि धर्मनाथ गुप्ता नामक पांचवें अभियुक्त पर भाजपा नेता की हत्या की साजिश रचने का आरोप लगाया गया है. तीन अभियुक्तों को सोमवार को गिरफ्तार कर लिया गया और पुलिस शेष दो अभियुक्तों की तलाश कर रही है.

रविवार को घर के बाहर सो रहे सुरेंद्र सिंह की हत्या कर दी गई थी
रविवार को घर के बाहर सो रहे सुरेंद्र सिंह की हत्या कर दी गई थी, जिसके बाद स्मृति ईरानी ने अमेठी पहुंच कर मृतक के परिजनों से मुलाकात की और उन्होंने सिंह की अर्थी को कंधा भी दिया था. इसके बाद उन्होंने संवाददाताओं से कहा था कि वह खुद इस पर नजर रखेंगी कि आरोपियों को सख्त सजा मिले.

आपतो बता दें कि रविवार को स्मृति ईरानी दोपहर बाद बरौलिया गांव पहुंचीं और सुरेन्द्र सिंह की अंतिम यात्रा में शामिल हुईं. स्मृति ने सिंह के पार्थिव शरीर पर पुष्प चढ़ाए. इस दौरान वह काफी भावुक हो गईं. स्मृति ने सिंह के पार्थिव शरीर को कंधा भी दिया. इससे पहले वह सिंह के परिवार वालों से मिलीं और उन्हें ढांढस बंधाया.

सुरेन्द्र सिंह स्मृति ईरानी के बहुत करीबी माने जाते थे
सुरेन्द्र सिंह स्मृति ईरानी के बहुत करीबी माने जाते थे. सिंह के घर पहुंची स्मृति ने उनके अंतिम संस्कार में शामिल होने के बाद यहां संवाददाताओं से कहा, 'मैं इस घटना से बहुत दुखी हूं. सरकार और बीजेपी संगठन दु:ख की इस घड़ी में परिवार के साथ है. उन्होंने कहा कि दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलवायी जाएगी.

जिसने गोली चलाई और जिसने गोली चलाने का आदेश दिया है, उसे फांसी के फंदे तक पहुंचाने के लिए आवश्यक हुआ तो उच्चतम न्यायालय तक जाएंगे.' स्मृति ने कहा कि अमेठी को आतंकित करने की नीयत से सुरेंद्र सिंह की हत्या की गई है. अमेठी टूटे, अमेठी झुके, इस घटना के पीछे यही छिपा है. उन्होंने कहा कि भाजपा का 11 करोड़ का परिवार सुरेंद्र सिंह के परिवार के साथ खड़ा है. कानून की मर्यादा में रहकर दोषियों को सजा दिलाई जाएगी.

इनपुट भाषा से भी