close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

UP: उन्नाव जेल में कैदियों ने लहराये 'तमंचे', बोले- 'योगी सरकार भी कुछ नहीं बिगाड़ सकती', VIDEO VIRAL

डीएम ने जेल अधीक्षक एके सिंह व जेलर बृजेन्द्र सिंह को जमकर फटकार लगाई और लापरवाह कर्मियों की छानबीन कर रिपोर्ट पेश करने की बात कही है. 

UP: उन्नाव जेल में कैदियों ने लहराये 'तमंचे', बोले- 'योगी सरकार भी कुछ नहीं बिगाड़ सकती', VIDEO VIRAL
वीडियो में दो शातिर अपराधी जेल में खुलेआम असलहा लहराते दिख रहे हैं.

उन्नाव: उत्तर प्रदेश में अपराधियों की क्या मौज है, इसकी बानगी उन्नाव जेल में सामने आई है, जहां से एक वीडियो वायरल हो रहा है. उन्नाव जेल में सजा काट रहे दो कैदियों का जेल के अंदर असलहा लहराते वीडियो वायरल हो रहे हैं. वीडियो के वायरल होते ही डीएम ने जेल अधीक्षक को कड़ी फटकार लगाते हुए रिपोर्ट भी तलब करने की बात कही है. जांच में सामने आया है कि ये तमंचे मिट्टी के बने थे.

जेल के अंदर असलहा लहराते और बैरिक में पार्टी मनाते बंदियों का वीडियो वायरल होने से अधिकारियों में हड़कंप मचा हुआ है. डीएम ने जेल अधीक्षक एके सिंह व जेलर बृजेन्द्र सिंह को जमकर फटकार लगाई और लापरवाह कर्मियों की छानबीन कर रिपोर्ट पेश करने की बात कही है. वीडियो में दो शातिर अपराधी जेल में खुलेआम असलहा लहराते दिख रहे हैं. वीडियो वायरल होने के बाद जेल प्रशासन बैकफुट पर आ गया है.

 

उन्नाव जेल में बंद अपराधी अमरेश को 31 मार्च 2017 में मेरठ जेल से उन्नाव भेजा गया था. आईपीसी 302 के मामले में आजीवन कारावास की सजा काट रहा है. अपराधी अमरेश पर इसके साथ ही 386, 120 बी के कई मामले दर्ज हैं. वही तस्वीरों में दिख रहा दूसरा अपराधी देवेंद्र प्रताप गौरव को 11 फ़रवरी 2017 को लखनऊ से उन्नाव ट्रांसफर किया गया था. गौरव पर भी आईपीसी 302(हत्या) के मामले में आजीवन कारावास की सजा काट रहा है. इस पर भी कई और संगीन धाराओं के मुकदमा में अपराधी है. 

वायरल वीडियो में अपराधी खुलेआम योगी सरकार को चुनौती देते हुए यह कहते नजर आ रहे हैं कि मेरठ जेल हो या फिर उन्नाव, वे प्रदेश की किसी भी जेल को कार्यालय बना देंगे. वे अपने पास तमंचों के साथ ही मोबाइल को भी दिखाते नजर आ रहे हैं. वीडियो में कुख्यात बदमाश अंकुर के पास असलहा है और वह वीडियो में धमकी देता नजर आ रहा है कि वह कहीं भी किसी को मार सकता है. दूसरे वीडियो में मेरठ के बदमाश अमरीश के पास भी असलहा दिख रहा है. वह कह रहा है कि योगी सरकार ने उसे मेरठ से उन्नाव भेजा है. मेरठ हो या उन्नाव वह किसी भी जेल को कार्यालय बना सकता है. 

ऐसे में बड़ा सवाल है कि आखिर कैसे जेल के अंदर ये असलहे पहुंचे और जेल प्रशासन को इसकी भनक क्यों नहीं लगी. आपको बता दें कि पहले भी कई बार उन्नाव जेल सुर्खियों में रही है, अगर ये अपराधी जेल के अंदर किसी घटना को अंजाम देते हैं तो इसका जिम्मेदार कौन होगा? वही इस पूरे मामले में जेल अधीक्षक एके सिंह ने बताया इस पूरे मामले जांच कराई जा रही है. रिपोर्ट बनाकर डीजी जेल को भेज दिया गया है, जो दोषी होगा उसके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी.