close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अतीक अहमद को सोमवार को नैनी जेल से अहमदाबाद की जेल में किया जाएगा शिफ्ट

प्राप्‍त जानकारी के मुताबिक सोमवार सुबह 5 बजे नैनी जेल से कड़ी सुरक्षा के बीच सड़क के रास्‍ते अतीक को वाराणसी के बाबतपुर एयरपोर्ट ले जाया जाएगा. 

अतीक अहमद को सोमवार को नैनी जेल से अहमदाबाद की जेल में किया जाएगा शिफ्ट
सोमवार को नैनी जेल से अहमदाबाद जेल शिफ्ट होगा अतीक अहमद. फाइल फोटो

प्रयागराज: प्रयागराज के नैनी सेंट्रल जेल में बंद बाहुबली पूर्व सांसद अतीक अहमद को शनिवार को अहमदाबाद जेल में शिफ्ट नहीं किया जा सका. अब अतीक अहमद को 3 जून को अहमदाबाद जेल में शिफ्ट किया जाएगा. दरअसल एयर टिकट समय पर उपलब्ध नहीं हो पाने की वजह से अतीक को नहीं भेजा जा सका. 

प्राप्‍त जानकारी के मुताबिक सोमवार सुबह 5 बजे नैनी जेल से कड़ी सुरक्षा के बीच सड़क के रास्‍ते अतीक को वाराणसी के बाबतपुर एयरपोर्ट ले जाया जाएगा. 3 जून को सुबह 9:10 बजे की फ्लाइट से अतीक को अहमदाबाद ले जाया जाएगा. इसके बाद वहां से सीधे जेल में उसे शिफ्ट कर दिया जाएगा. अतीक की सुरक्षा में नैनी जेल के डिप्टी जेलर एक सीओ और एक एसआई को अहमदाबाद तक भेजा जाएगा.

देखें LIVE TV

गुजरात सरकार का पत्र मिलने के बाद शासन ने अतीक अहमद की जेल बदले जाने का आदेश जारी कर दिया है. लखनऊ निवासी रियल एस्टेट कारोबारी मोहित जायसवाल को अगवा कर देवरिया जेल में पीटा गया था. यह वारदात माफिया अतीक अहमद के गुर्गों ने की थी और तब अतीक देवरिया जेल में ही था. युवक ने जेल में कई दस्तावेजों में जबरन दस्तखत भी कराए थे. आलमबाग कोतवाली में इस घटना की रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी. इस घटना देवरिया जेल के अधिकारियों की लापरवाही सामने आई थी. जिस पर देवरिया के जेल अधीक्षक व जेलर समेत पांच जेलकर्मियों को निलंबित कर दिया गया था. 

इस प्रकरण के बाद अतीक अहमद को देवरिया जेल से बरेली जेल स्थानान्तरित कर दिया गया था. 19 अप्रैल को अतीक अहमद को बरेली जिला कारागार से नैनी सेंट्रल जेल स्थानांतरित किया गया था. बता दें कि बाहुबली अतीक अहमद साल 2004 के लोकसभा चुनाव में फूलपुर से सपा के टिकट सांसद बना था. वहीं, अतीक अहमद और उसके छोटे भाई अशरफ पर विधायक राजू पाल की हत्या का भी आरोप है. उपचुनाव में जीत दर्ज कर पहली बार विधायक बने राजू पाल की कुछ महीने बाद 25 जनवरी, 2005 को दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. प्रयागराज के कई थानों में अतीक अहमद पर हत्या, अपहऱण, रंगदारी, समेत कई संगीन मामले दर्ज हैं.