मंडप में बैठी रह गई दुल्हन, न बारात आई और न दूल्हा, वजह थी केवल पैसों की 'भूख'!

शादी टूट जाने से पूरा परिवार सदमे में है और सभी का रो-रोकर बुरा हाल है. पीड़ित पक्ष अब पुलिस की चौखट पर है और न्याय की गुहार लगा रहा है.

मंडप में बैठी रह गई दुल्हन, न बारात आई और न दूल्हा, वजह थी केवल पैसों की 'भूख'!
पुलिस ने दूल्हे समेत उसके परिवार पर केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

जौनपुर: घर बसाने का सपना देख रही दुल्हन, बारात का इंतजार ही करती रह गई और दहेजलोभी ससुराल पक्ष ने बारात लाने से इंकार कर दिया. लड़की पक्ष के मुताबिक 8 लाख नकद न मिलने के चलते रिश्ता तोड़ दिया गया. दरअसल, खुटहन क्षेत्र में लड़की पक्ष के घर पर 19 नवंबर को पूरा परिवार शादी की खुशियां मना रहा था. आंगन रिश्तेदारों से भरा हुआ था. लेकिन चंद घंटों में ही खुशियां गम में बदल गई. ससुराल पक्ष ने बारात लाने से ही मना कर दिया.

बताया जा रहा है कि विवाह से एक दिन पहले लड़का पक्ष ने 8 लाख की मांग की थी. लेकिन लड़की पक्ष ने असमर्थता जताई और 3 लाख देने की बात कही. इस पर लड़का पक्ष ने पैसे न मिलने पर बारात न लाने की धमकी दी. लड़की पक्ष की ओर से बहुत समझाया गया, लेकिन दहेज के लालचियों को पैसे के सिवा कुछ नहीं दिखा. लड़की के पिता ने बताया कि लड़के पक्ष के लोगों को मनाने की कई बार कोशिशें की गई.

रिश्तेदारों को लेकर लड़के वालों के गांव मनाने भी गए. लेकिन लकड़ा पक्ष ताला लगाकर फरार हो गया. जिससे हुआ यूं कि बारात नहीं पहुंची और लड़की दुल्हन बनकर बैठी रह गई. शादी टूट जाने से पूरा परिवार सदमे में है और सभी का रो-रोकर बुरा हाल है. पीड़ित पक्ष अब पुलिस की चौखट पर पहुंच गया है और न्याय की गुहार लगा रहा है. फिलहाल पुलिस ने दूल्हे समेत उसके परिवार पर केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.