close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बसपा नेता रामवीर उपाध्याय को पार्टी से किया गया निलंबित, मायावती इस वजह से थीं नाराज

उनके ऊपर लोकसभा चुनाव में आगरा, फतेहपुर सीकरी, अलीगढ़ समेत कई सीटों पर पार्टी प्रत्याशी का विरोध करने का आरोप लगा है. रामवीर उपाध्याय को बसपा ने विधानसभा में बहुजन समाज पार्टी के मुख्य सचेतक पद से भी हटा दिया है

बसपा नेता रामवीर उपाध्याय को पार्टी से किया गया निलंबित, मायावती इस वजह से थीं नाराज
रामवीर उपाध्याय पर पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव मेवालाल गौतम ने यह कार्रवाई की है. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के पूर्व मंत्री और बसपा के कद्दावर नेता रामवीर उपाध्याय को पार्टी से निलंबित कर दिया गया है. जानकारी के मुताबिक, लोकसभा चुनाव के दौरान पार्टी विरोधी गतिविधियों में संलिप्त होने और अनुशासनहीनता की वजह से निलंबित किया गया है. पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव मेवालाल गौतम ने यह कार्रवाई की है.

उनके ऊपर लोकसभा चुनाव में आगरा, फतेहपुर सीकरी, अलीगढ़ समेत कई सीटों पर पार्टी प्रत्याशी का विरोध करने का आरोप लगा है. रामवीर उपाध्याय को बसपा ने विधानसभा में बहुजन समाज पार्टी के मुख्य सचेतक पद से भी हटा दिया है. साथ ही कहा गया है कि वह अब पार्टी के किसी कार्यक्रम में शामिल नहीं होंगे और न ही उन्हें इसके आमंत्रित किया जाएगा.

 

पार्टी महासचिव मेवालाल गौतम के पत्र के अनुसार, रामवीर उपाध्याय ने न केवल लोकसभा चुनाव के दौरान पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल हुए, बल्कि चेतावनी के बाद भी उन्होंने लोकसभा चुनाव में आगरा, फतेहपुर सीकरी, अलीगढ़ समेत कई सीटों पर पार्टी प्रत्याशी का खुलकर विरोध किया और विरोधी पार्टियों के प्रत्याशियों का समर्थन किया.

लाइव टीवी देखें

गौरतलब है कि बसपा ने पूर्व मंत्री रामवीर उपाध्याय की पत्नी सीमा उपाध्याय को फतेहपुर सिकरी से प्रत्याशी बनाया था, लेकिन उन्होंने चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया. इसके बाद रामवीर उपाध्याय अलीगढ़ में बीजेपी प्रत्याशी सतीश गौतम के साथ चुनाव प्रचार में भी दिखे. इतना ही नहीं रामवीर उपाध्याय आगरा से बीजेपी प्रत्याशी एसपी बघेल के साथ भी दिखे. उन पर आरोप है कि उन्होंने लोकसभा चुनाव में बीजेपी प्रत्याशी के लिए वोट मांगे.