बजट सत्र की हंगामेदार शुरुआत: विपक्षी दलों के शोरगुल के बीच राज्यपाल ने पढ़ा अभिभाषण

राज्यपाल ने कहा, ‘‘मैं यह भी आशा करता हूं कि आप सभी सदस्य इस सदन की उच्च गरिमा और पवित्रता को कायम रखेंगे

बजट सत्र की हंगामेदार शुरुआत: विपक्षी दलों के शोरगुल के बीच राज्यपाल ने पढ़ा अभिभाषण
इस सत्र में वित्त वर्ष 2019-20 का आय-व्ययक पेश किया जाएगा.(फाइल फोटो)

लखनऊः  उत्तर प्रदेश विधानमण्डल के बजट सत्र की आज हंगामेदार शुरुआत हुई. राज्यपाल राम नाईक के अभिभाषण के दौरान विपक्षी सदस्यों ने उनकी ओर कागज के गोले उछाले और नारेबाजी की. राज्यपाल ने पूर्वाह्न 11 बजे समवेत सदन में जैसे ही अभिभाषण पढ़ना शुरू किया, विपक्षी सदस्यों ने हंगामा शुरू कर दिया. उन्होंने 'राज्यपाल वापस जाओ' के नारे लगाए और नाईक की तरफ कागज के गोले फेंके. हालांकि कागज के गोले उन तक नहीं पहुंच सके और सुरक्षा कर्मियों ने फाइल कवर के सहारे उन्हें रोक लिया.

कारपेंटर से फिल्म डायरेक्टर तक की कहानी

विपक्षी सदस्यों के लगातार शोरगुल के बीच राज्यपाल ने पूरा अभिभाषण पढ़ा और प्रदेश सरकार की विभिन्न योजनाओं एवं उपलब्धियों का सिलसिलेवार ब्यौरा पेश किया. उन्होंने सदन में हंगामे के बीच अंत में कहा 'मैंने आपके समक्ष मेरी सरकार की प्रमुख नीतियों तथा कार्यों की संक्षिप्त रूपरेखा पेश की है. इस सत्र में वित्त वर्ष 2019-20 का आय-व्ययक पेश किया जाएगा.'

इलाज के नाम पर कराया जा रहा था धर्म परिवर्तन, आरोपी ने कहा, धर्म बदल लो, पैसा भी मिलेगा और दवा भी

उन्होंने आगे कहा कि 'साथ ही अन्य विधेयक भी प्रस्तुत किये जाएंगे, जिन्हें पारित करने की आपसे अपेक्षा की जाती है. मुझे पूर्ण विश्वास है कि सभी सदस्य प्रदेश की जनता के हित में सरकार का सहयोग करेंगे, दलीय निष्ठा से ऊपर उठकर समाधान निकालेंगे और प्रदेश को तेजी से आगे ले जाने में अपनी भूमिका निभाएंगे.’’ राज्यपाल ने कहा, ‘‘मैं यह भी आशा करता हूं कि आप सभी सदस्य इस सदन की उच्च गरिमा और पवित्रता को कायम रखेंगे.’’